Hindi Tech Blog

उपयोगी वेबसाइट लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
उपयोगी वेबसाइट लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

16 अक्तूबर 2018

वेब सर्च इंजन क्या है? यह कैसे काम करता है?

Popular Web Search Engine
Popular Web Search Engine


नमस्कार मित्रों, जैसा की सब जानते है की वेब पर किसी भी विषय के बारे में जानना हो तो ब्राउज़र के एड्रेस में लिखते है और सर्च कर लेते है, जो की ब्राउज़र में सेव पहले से ही डिफाल्ट सर्च इंजन हमें परिणाम दिखाता है।

लेकिन वेब सर्च इंजिन क्या है? यह कैसे काम करता है? आईये जाने।

एक वेब सर्च इंजन वह सॉफ्टवेयर है जिसे वर्ल्ड वाइड वेब से सबंधित सूचनाओं को खोजने के लिए बनाया गया है। सर्च रिजल्ट (खोजे गये परिणामों) को सामान्यत: परिणामों की एक सूचि के रूप में प्रस्तुत किया जाता है, जिसे "सर्च इंजन रिजल्ट पेज" (s.e.r.p.) कहा जाता है। सुचना वेब पेज, छवियों और अन्य कई तरह की फाइलों का मिश्रण हो सकता है। कुछ सर्च इंजन डाटा बेस अथवा ऑपन डायरेक्ट्रीज (Open Directories) से भी डाटा माईन (खोज) करते हैं।

एक सर्च इंजन वास्तविक समय में निम्नलिखित प्रक्रियाओं को सम्भालता है:
1. वेब क्रलिंग/ वेब स्पाइडर
2. इंडेक्सिंग (अनुक्रमण)
3. सर्चिंग (खोजना)

एक वेब क्राउलर वह इंटरनेट बोट (bot) है जो वेब अनुक्रमण (इंडेक्सिंग) के लिए वर्ल्ड वाइड वेब को व्यवस्थित तरीके से ब्राउज करता है। सर्च इंजन वेब क्राउलिंग या स्पाइडर सोफ्टवेयरों का उपयोग अपनी वेब कंटेंट (सामग्री) या दुसरी वेबसाइट के कंटेंट अनुक्रमण को अद्यतन (अपडेट) बनाने के लिए करते हैं। वेब क्राउलर विजिट किये गये सभी पृष्ठों की प्रतिलिपि (कॉपी) तेयार कर प्रस्तुत कर सकता है जिसके डाउनलोड किये गये पेजों को बाद में सर्च इंजन द्वारा अनुक्रमित किया जा सकता है जिसे उपयोगकर्ता (यूजर) और अधिक कुशलता से खोज (सर्च) सकता है।

इंडेक्सिंग अनुक्रमण का अर्थ वेब पेज पर पाए गये सबंधित शब्दों और परिभाषित हो सकने वाले टोकनो को उनके डोमेन-नेम और एच.टी.एम.एल. (HTML) फिल्ड से जोड़ना है।  इनका जोड़ सार्वजनिक डेटा बेस में किया जाता है जो वेब सर्च क्वेरी के लिए उपलब्ध रहता है। यूजर के द्वारा एक शब्द के रूप में भी क्वेरी की जा सकती है। अनुक्रमण (इंडेक्स) सबंधित सूचनाओं को शीघ्र से शीघ्र खोजने में मदद करता है।

आमतौर पर जब कोई यूजर कोई क्वेरी करता है तो वह कुछ शब्दों का समूह होता है। इंडेक्स में निहित तौर पर उन सभी वेबसाईटों के नाम होते हैं जहाँ क्वेरी शब्दों के कीवर्ड होते हैं एवं उन्हें तत्काल या क्षणिक तौर पर इंडेक्स से प्राप्त किया जा सकता है। वास्तविक प्रोसेसिंग लोड इन वेब-पेज (खोजे गये परिणामों) को सूचीबद्ध करने में लगता है।

सर्च इंजन की उपयोगिता परिणामों की प्रासंगिकता पर निर्भर करती है। उसी शब्द /शब्दांशों से सबंधित जानकारी लाखों वेबसाइट पर उपलब्ध होती है लेकिन उनमें से कुछ पेज दूसरों की तुलना में क्वेरी से अधिक प्रासंगिक एवं लोकप्रिय हो सकते हैं। अधिकतर सर्च इंजन परिणामों की रैंकिंग करके सबसे अच्छे परिणामों को सर्च रिजल्ट के रूप में प्रस्तुत करते हैं।

कौनसा पेज सबसे ज्यादा मैच करता है? किस क्रम में परिणामों को दिखाया जाना है? यह सुनिश्चित करने की प्रक्रिया हरेक सर्च इंजन अलग-अलग होती है। शोध के अनुसार, आज सबसे ज्यादा लोकप्रिय सर्च इंजन जिन्हें इंटरनेट समुदायों द्वारा अत्यधिक काम में लिया जा रहा है वो निम्न है:
1. गूगल (Google)
2. बिंग (Bing)
3. याहू (Yahoo)
4. बायडू
5. एओएल (AOL जिसे पहले अमेरिकन ऑनलाइन कहा जाता था)
6. आस्क
7. लाइकोस

गूगल सर्च जिसे सामान्यत: गूगल वेब सर्च या गूगल कहकर संबोधित किया जाता है, गूगल इनकार्पोरेशन का एक वेब सर्च इंजन है। यह वर्ल्ड वाइड वेब पर सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला सर्च इंजन है, जिसमे हर रोज तीस करोड़ से भी अधिक सर्च किये जाते हैं। गूगल के सर्च-रिजल्ट पेज का ऑर्डर "पेजरैंक" नामक पेटेंटेड प्रायोरिटी रैंक अल्गोरिद्म पर आधारित है।
गूगल सर्च का मुख्य उद्धेश्य वेब सर्वर पर सार्वजानिक रूप से उपलब्ध दस्तावेजों में शब्दों की खोज करना है ना की डेटाबेस में उपलब्ध चित्र या डाटा खोजना। यह मूल रूप से 1997 में लेरी पेज और सर्गेइ ब्रिन द्वारा विकसित किया गया था।

बिंग भी एक वेब सर्च इंजन है जिसे पहले लाइव (Live) सर्च, विंडोज लाइव सर्च एवं एम.एस.एन. (MSN सर्च) के नाम से भी जाना जाता था। इसे "डिसीजन इंजन" के रूप में माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विज्ञापित किया गया था। बिंग का अनावरण 28 मई 2009 को माइक्रो सॉफ्ट के सीईओ स्टीव बाल्बर द्वारा किया गया।

अगली बार मिलते है कुछ ऐसी ही जानकारीवर्धक पोस्ट के साथ।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक करें, धन्यवाद।

10 अक्तूबर 2018

क्लाउड स्टोरेज क्या है? और प्रचलित सर्विस कौनसी है?

What Is Cloud Storage
Cloud Storage

नमस्कार मित्रों, स्वागत है आपका अपना अंतर्जाल पर, पिछली पोस्ट में आप जान चुके हैं ब्लॉग क्या है? और इ-कॉमर्स क्या है? आज जानेंगे क्लाउड स्टोरेज के बारे में।

क्लाउड स्टोरेज :

क्लाउड स्टोरेज एक तरीके का सर्विस मॉडल है जहाँ डाटा, यूजर को नेटवर्क के माध्यम से प्रदान किया जाता है और डाटा को रिमोटली ही मैनेज, सार-संभाल और बैकअप लिया जाता है।क्लाउड स्टोरेज, डाटा स्टोरेज का एक मॉडल है, जहाँ डिजिटल डाटा लॉजिकल पूल में स्टोरेज किया जाता है। फिजिकल डाटा वातावरण को एक होस्टिंग कम्पनी सम्भालती है। यह इन कंपनियों की जिम्मेदारी है की फिजिकल वातावरण सुचारू रूप से चलता रहे, डाटा हमेशा उपलब्ध रहे और सुरक्षित रहे। ग्राहक और कम्पनियां अपना डाटा या एप्लीकेशन को स्टोर करने के लिए इस डाटा सर्विस को खरीद सकते हैं।

क्लाउड स्टोरेज को पास में रखे हुए कंप्यूटर, वेब एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस (API) या इस API का इस्तेमाल करने वाली एप्लीकेशन, जैसे की क्लाउड डेस्कटॉप स्टोरेज, क्लाउड स्टोरेज गेटवे या वेब आधारित कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम के द्वारा एक्सेस किया जा सकता है। साधारण भाषा में समझे तो क्लाउड स्टोर अपने लिए ऑनलाइन हार्ड डिस्क की तरह है वहां हम कंप्यूटर की तरह डाटा सेव कर सकते हैं, और जब चाहे जहा चाहे उस 
डाटा को इस्तेमाल कर सकते है, बस आपका इंटरनेट ऑन होना चाहिए।

कुछ प्रचलित क्लाउड स्टोरेज सर्विस :

Cloud Storage Service
Cloud Storage Service

* गूगल ड्राइव - गूगल क्लाउड, स्टोरेज के साथ ऑफिस टूल भी प्रदान करता है। इसमें वर्ड प्रोसेसर, स्प्रेडशीट, प्रजेंटेशन बिल्डर और 15 गीगाबाईट (GB) का स्टोरेज स्पेस मिलता है। अगर आपके पास गूगल अकाउंट है, तो आप आसानी से गूगल ड्राइव का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस 15 गीगाबाईट स्टोरेज में आप डाक्यूमेंट्स, चित्र, फोटोशोप फ़ाइल, पीडीएफ फ़ाइल इत्यादि अपलोड कर सकते हैं।

* माइक्रोसॉफ्ट वन ड्राइव - यह माइक्रोसॉफ्ट का उत्पाद है, जो विंडोज 8 या विंडोज 10 इस्तेमाल करते हैं, उनको वन ड्राइव विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम में सम्मिलित मिलता है। हालाँकि इसका मतलब ये नही की विंडोज 7 या विंडोज xp वाले इसका इस्तेमाल नहीं कर सकते आपको बस माइक्रोसॉफ्ट वन ड्राइव की डेस्कटॉप एप डाउनलोड करनी होगी, एंड्राइड के लिए भी प्ले स्टोर से एप इनस्टॉल करनी होगी अगर विंड़ोज फोन है तो भी 
आप एप इनस्टॉल करके इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

* ड्राप बॉक्स - यह मेरा सबसे पसंदीदा क्लाउड स्टोरेज है क्योंकि इसका इंस्टालेशन आसान है, यह भरोसेमंद है और इस्तेमाल करने में भी एकदम आसान है। इसको इस्तेमाल करने के लिए आप इस पर अपनी id बनाकर इसकी एप डाउनलोड कर लें, आपके कंप्यूटर में इसका एक अलग फोल्डर बन जायेगा, अब जो फाइल आप क्लाउड स्टोरेज में रखना चाहते है वो फाइल उस फोल्डर में कॉपी कर दे और भूल जाएँ, आप अपना कोई भी काम जारी रखें इंटरनेट ऑन होते ही बैकग्राउंड में ये एप चलती रहती है और आपकी फ़ाइल अपलोड होती रहती है। ड्रापबॉक्स में रखी फ़ाइल आप कहीं से भी एक्सेस कर सकते है इसके लिए आपको ड्रापबॉक्स की वेबसाइट पे जाकर लॉग इन (Log in) करना होगा। यह विंडोज, मैक, एंड्राइड और लिनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए उपलब्ध है।

* बॉक्स - ये भी एक चर्चित क्लाउड सर्विस है , बॉक्स पर व्यक्तिगत मुफ्त अकाउंट के लिए कोई भी साइन अप (Sign UP) कर सकता है। इसकी खास बात ये है की जहाँ दुसरे क्लाउड स्टोरेज सिर्फ फ़ाइल स्टोरेज की सुविधा देते हैं वहीं बॉक्स में आप फ़ाइल दुसरे यूजर के साथ शेयर कर सकते हैं, किसी को काम दे सकते हैं और फ़ाइल में हुए बदलाव की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। 

क्लाउड स्टोरेज में विभिन प्रकार की डिवाइस पर आपका कार्य/फ़ाइल को सिंक्रोनाइज करने की लचीली सुविधा प्रदान करता है। अधिकतर सभी मुख्य क्लाउड स्टोरेज प्लेटफार्म ऑफिस एप्लीकेशन टूल्स को अंतर्निहित इनस्टॉल रखते हैं जिसकी वजह से आप अपनी फाइल्स को कहीं से भी क्रिएट, एडिट,  ड्राफ्ट व पब्लिश कर सकते हैं।

इन सभी क्लाउड स्टोरेज के लिंक नाम में ही है।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक करें, धन्यवाद।

09 अक्तूबर 2018

इ-कॉमर्स क्या है? पुरी जानकारी मिलेगी यहाँ।

What is e-commerce
इ-कॉमर्स 
नमस्कर मित्रों , आज जानेगे इ-कॉमर्स क्या है और इसके प्रकार और उपयोग के बारे में आजकल इ-कॉमर्स का प्रचलन अधिक है तो सोचा क्यों ना इस पर एक पोस्ट हो जाए।

इ-कॉमर्स (इलेक्ट्रोनिक कॉमर्स) :
किसी भी समान को इलेक्ट्रोनिक माध्यम (मुख्य रूप में इंटरनेट) से खरीदा या बेचा जाये उसे इ-कॉमर्स कहते हैं। ऑनलाइन रिटेल बहुत आरामदायक होता है क्योंकि एक तो वह 24 घंटे उपलब्ध रहता है, वैश्विक स्तर पर उपलब्ध होता है और आमतौर पर अच्छी ग्राहक सेवा प्रदान करता है।

ई-कॉमर्स व्यपार में निम्नलिखित विशेषताएं होती है :

* ऑनलाइन शौपिंग साईट, खुदरा बिक्री -सीधे ग्राहक के लिए।
* बेचने वाला ऑनलाइन बाजार (मार्केटप्लेस) में भाग ले सकता है जो की व्यापार ग्राहक, या ग्राहक - ग्राहक बेचने का माध्यम प्रदान करता है।
* व्यापार - व्यापार (Business 2 Business) खरीदना और बेचना। 
* डेमोग्राफी डाटा को एकत्रित करना (सोशल मिडिया और वेब कॉन्टेक्ट्स द्वारा)
* B2B इलेक्ट्रोनिक डाटा एक दुसरे से आदान-प्रदान करना।
* ईमेल और फेक्स के द्वारा क्लाइंट्स और सबंधित ग्राहकों को पाने के लिए मार्केटिंग करना (उदाहरण के लिए - समाचार पत्र)

इ-कॉमर्स के प्रकार :

* प्योर (pure)-क्लिक या प्योर-प्ले संस्थाएं - जिन्होंने बिना किसी पुरानी चल रही संस्था के, बस एक साईट शुरू कर दी है।
* बिक्र-एंड-क्लिक संस्थाएं - वह चल रही संस्था होती है जिसने इ-कॉमर्स के लिए साइट लांच की है।
* क्लीक-टू-बिक्र संस्था - यानी ऑनलाइन विक्रेता जिसने बाद में कुछ जगहों पर दुकान खोली हो।

कई प्रकार की इ-बिक्री हो सकती है, जैसे :

* व्यापार से ग्राहक (Business 2 Consumer) -: कम्पनी सीधे अपना समान उपभोगकर्ता को बेचती है। B2C वेब शॉप्स आमतौर पर सभी विसिटर्स के लिए खुली होती है। उदाहरण है  अमेजोन

* व्यापार से प्यापार (Business 2 Business) -: कम्पनी बिना सीधे ग्राहक को बेचे, सीधे दुसरी कम्पनी को सामान बेचती है। इनके ऑनलाइन साईट पर लॉग इन करना पड़ता है। इस प्रकार की साइट्स पर आमतौर पर ग्राहक के हिसाब से दाम, डिस्काउंट और माल की छंटनी होती है। उदाहरण है अलीबाबा

* ग्राहक से व्यापार (Consumer 2 Business) -: यहाँ ग्राहक अपना सामान ऑनलाइन बेचने के लिए लगा देता है जहाँ कम्पनी बोली लगा सकती है। ग्राहक इन बोलियों को देख सकता है और अपने हिसाब से कम्पनी चुन कर माल बेच सकता है।

* ग्राहक से ग्राहक (Consumer 2 Consumer) -: ग्राहक अपने माल को दुसरे ग्राहक को बेचता है इसका बेहतरीन उदाहरण है ईबाय

* मोबाईल कॉमर्स (mCommerce) -: मोबाइल या पर्सनल डिजिटल असिस्टेंट (PDA) के द्वारा माल को खरीदने या बेचने को मोबाइल कॉमर्स कहते हैं। अगली पीढ़ी कही जाने वाले इस इ-कॉमर्स में यूजर को इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए किसी प्लग में तार नहीं लगाना पड़ता।

इ-कॉमर्स की सबसे सबसे बड़ी विशेषता है बिना किसी ज्यादा फाइनेंसियल इन्वेस्टमेंट के उसका वैश्विक होना, इस तरह के कॉमर्स के लिए कोई जमीनी बाध्यता नहीं है। ग्राहक वैश्विक तौर पे चुन सकते है, सभी बेचने वालों की तुलना कर सकते हैं बिना उनकी वर्तमान भौगोलिक स्थिति के। सीधे ग्राहक को कम्पनी से मिला देने के गुण से इ-कॉमर्स ने बिचोलियों के लिए कोई काम नहीं छोड़ा है, कुछ जगह है भी तो काफी कम। इस प्रकार कम्पनी और ग्राहक के बीच सीधा तार जुड़ जाता है, जिससे कम्पनी ग्राहक को उसके उत्पाद और सर्विस प्रदान कर सकती है। 

इ-कॉमर्स कम्पनी ग्राहक को बेहतर उत्पाद, बेहतर आफ्टर-सेल्स-सर्विस देती है जो ग्राहक को और करीब ले आता है। इससे प्रतिस्पर्धा भी बढती है। कीमत में आकर्षक कमी, इ-कॉमर्स की एक महत्वपूर्ण विशेषता है, इ-कॉमर्स नए तरीकों से ग्राहकों के पास एक 24 घंटे खुला रहने वाला वर्चुअल स्टोर बन गया है।

इ-कॉमर्स के प्रयोग : सबसे प्रचलित इ-कॉमर्स एप्लीकेशन है:

खुदरा एवं थोक व्यापार : खुदरा और व्यापार में इ-कॉमर्स के कई इस्तेमाल है। इ-रिटेलिंग या ऑनलाइन रिटेल, व्यापार से ग्राहक को माल इलेक्ट्रोनिक कैटेलोग और शौपिंग कार्ट मॉडल के माध्यम से बेचना है। एक साइबर मॉल या इ-मार्केटप्लेस ग्राहक और सेलर को एक वर्चुअल स्पेस में (एक वेब ब्राउज़र के द्वारा)आकर्षित करते हैं।

प्रचार : ग्राहक के व्यवहार, जरूरत और खरीदने के तरीके की जानकारी वेब और इ-कॉमर्स द्वारा जुटाई जा सकती है। यह प्रचार कार्यों जैसे कीमत तय करना, मोल-भाव करना, उत्पाद के फीचर में बदलाव एवं ग्राहक के साथ सम्बन्धों में मदद करता है।

फाइनेस : इस प्रकार की कम्पनिया इ-कॉमर्स का काफी उपयोग करती है। ग्राहक समस्त सेवाएं जैसे खाते का बैलेंस चेक करना, पेमेंट ट्रांसफर करना, अपने बिल जमा करना इ-बैंकिंग या ऑनलाइन बैंकिंग के माध्यम से आसानी से कर सकते है। इ-कॉमर्स का एक अन्य उपयोग ऑनलाइन स्टॉक लें-देंन भी है। काफी साइट्स कम्पनियों के प्रोफाइल एवं उसके स्टॉक/शेयर के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध करवाती है।

मेन्युफैक्चरिंग : इ-कॉमर्स किसी कम्पनी के माल ढुलाई के सिस्टम को भी सम्भाल लेता है। कुछ कम्पनिया एक प्रकार का इलेक्ट्रोनिक एक्सचेंज बना लेती है। इसमें सम्मिलित होता है माल का खरीदना-बेचना, व्यापार मार्केटिंग की जानकारी, कार्यालय की जानकारी जैसे इन्वेंटरी कंट्रोल, कच्चा माल एवं तैयार माल की ढुलाई प्रोसेस इस प्रकार से तेज हो जाती है।

बोली (ऑक्शन) : ग्राहक-ग्राहक  इ-कॉमर्स माल के सीधे सीधे ग्राहकों के बीच बेचने को कहते हैं। इसमें इलेक्ट्रोनिक बोली भी शामिल है। बिडिंग एक प्रकार की बोली है जिसमे संभावित ग्राहक माल के लिए ऑनलाइन बोली लगा सकता है।

ऑनलाइन शौपिंग साइट्स :

online shopping
online shopping

आजकल लोगों के पास समय की कमी है और वह अपने काम में अधिक व्यस्त हो गये हैं। किसी अन्य काम के लिए बहुत ही कम समय बचता है और ऐसे में ऑनलाइन शौपिंग ही उनके लिए अच्छा माध्यम बनाता है। स्मार्टफोन के आने से इंटरनेट का उपयोग सरल हो गया है जिससे ऑनलाइन शौपिंग और भी ज्यादा प्रचलित हो गयी है। हिंदुस्तान की कई ऑनलाइन शौपिंग साइट्स इस प्रकार प्रचलित हो गयी है जो ग्राहकों को लुभावने ऑफर देकर आकर्षित करती है।
ऑनलाइन शौपिंग एक तेज, किफायती, आसान और मजेदार अनुभव प्रदान करता है। इसमें खूबियाँ जैसे 24 घंटे शौपिंग, डिस्काउंट कूपन के साथ शौपिंग, घर बैठे शौपिंग, अच्छी गुणवता के उत्पाद इत्यादि।

हिंदुस्तान की प्रमुख ऑनलाइन शौपिंग साइट्स:

online shopping Site
Indian online shopping Site

* फ्लिप्कार्ट.कॉम (अप म्यिन्त्रा के भी मालिक) : 2004 में लगभग 4 लाख रूपये से शुरू, आज 60000 करोड़ रु. का सालाना टर्नओवर, यह एक मार्किटप्लेस है जहाँ किताबों से लेकर इलेक्ट्रोनिक्स, कपड़े, जूते आदि सब कुछ खरीद सकते हैं। यह हिन्दुस्तान की सबसे बड़ी साईट है।

* अमेजन.इन : यह दुनियाभर में इ-कॉमर्स में अवल्ल है। अब हिंदुस्तान में भी अपने व्यापार को चालू कर दिया है। इस साईट पर सभी प्रकार का सामान किफायती दरों में उपलब्ध है।

* स्नैपडील.कॉम : यह साईट आस पड़ोस के उत्पाद एवं सर्विसेज जैसे मसाज, भ्रमण और रेस्तरा पर बेहतरीन ऑफर देती है। यह साईट अच्छी कीमत और मुफ्त कुरियर सेवा देती है।

* पेटिएम.कॉम : इसकी शुरुआत मोबाइल इ-वॉलेट के द्वारा मोबाइल रिचार्ज, बिल भुगतान आदि से शुरू हुई थी। अब ये साईट एक सम्पूर्ण मार्किटप्लेस की तरह सब कुछ बेच रही है। इसकी कम कीमत, इ-वॉलेट के बेहतरीन उपयोग के कारण इस साईट ने बहुत ही कम समय में शीर्ष दस साइट्स में अपनी जगह बना रखी है ।

* जबोंग.कॉम : यह एक फैशन स्टोर है जो की हर आइटम पर अच्छा डिस्काउंट प्रदान करवाता है। कपड़ों और घर की साज-सज्जा के सामान का बेहतरीन संग्रह इस साईट पे मिलता है।

मित्रों ये थी इ-कॉमर्स से जुडी जानकारी, सभी शौपिंग साइट्स के लिंक नाम में ही है, अगले लेख में बताऊंगा क्लाउड स्टोरेज के बारे में।


अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक करें, धन्यवाद।

20 सितंबर 2018

पीडीएफ फाइल्स कम्बाइन करें इन आसान तरीकों से


नमस्कार दोस्तों, आपका स्वागत अपना अंतर्जाल पे।


दोस्तों आजकल पीडीएफ फ़ाइल का इस्तेमाल कुछ ज्यादा ही होता है जैसे किसी कम्पनी को डिजिटल रिज्यूमे भेजना हो या कोई ऑफिसियल डाक्यूमेंट्स भेजने हो या फिर डिजिटल बुक्स हो, पीडीएफ को इन सभी काम में ऑनलाइन इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए इसे फ़ाइल फोर्मेट में कन्वर्ट करके, मल्टी पीडीएफ फ़ाइल को सिंगल डाक्यूमेंट्स में बनाने के लिए वैसे तो प्रोफेशनल स्किल होना जरूरी है, लेकिन अगर आप भी पीडीएफ फाइल्स को खुद मल्टी से सिंगल फ़ाइल् में कम्बाइन करना चाहते हैं तो आप विंडोज और वेब टूल्स की मदद से ये कर सकते हैं।

विंडोज से कम्बाइन ऐसे करें

Acrobat Dc Pro
विंडोज के लिए आपको एडोब एक्रोबेट डीसी का प्रीमियर वर्जन सॉफ्टवेयर इनस्टॉल करना होगा, जो दुनिया का सबसे अच्छा पीडीएफ एडिटर है। अब आप सोचेंगे प्रीमियर वर्जन है तो खरीदना पड़ेगा, लेकिन नहीं आपको इसे खरीदने की जरूरत नहीं, इसका ट्रायल बिलकुल फ्री है, लेकिन सिर्फ 7 दिनों के लिए। इसका इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले आप इसे डाउनलोड और इनस्टॉल करें, डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें। इनस्टॉल होने के बाद इसे ऑपन करें और सबसे बाएं उपर कोने पर स्थित टूल टेब्स पर और फिर कम्बाइन फाइल्स बटन को क्लिक करें। अब एड फ़ाइल बटन को क्लिक करके कम्बाइन किये जाने वाली सभी पीडीएफ फाइल्स को सिलेक्ट करें और कम्बाइन बटन पर क्लिक कर दें। इस तरह आपकी कई पीडीएफ फ़ाइल एक सिंगल पीडीएफ में बदल जाएगी।

ऑनलाइन कम्बाइन का तरीका

PDF Merge

पीडीएफ मर्ज : पीडीएफ मर्ज साईट पर एक सिम्पल विंडो मिलेगी जिसमें कई पीडीएफ फाइल्स को ड्रेग और ड्राप के लिए आप्शन दिया गया है, इस साईट पर एक बार में आप 4 फाइल्स को मर्ज कर सकते हैं। इसे पीसी पे भी इनस्टॉल कर सकते हैं, साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें।


PDF Joiner

पीडीएफ जॉइनर : इस साईट पर आप सभी फ़ाइल फोर्मेट को कन्वर्ट कर सकते हैं, लेकिन एक बार में मात्र 20 फाइल्स पे ही काम कर सकते हैं। इस साईट पे कम्बाइन करने के अलावा कम्बाइंड डाक्यूमेंट्स को टेक्स्ट या जेपीजी में बदल सकते हैं। इस साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें।

आशा करता हूँ आज का आलेख आपके लिए बहुत ही सहायक होगा।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज  लाइक करें, धन्यवाद।

16 सितंबर 2018

इमेज को आइकॉन में कन्वर्ट करें इन 5 तरीकों से

नमस्कार दोस्तों, हम अपने ब्लॉग या डेस्कटॉप एप्लीकेशन के लिए कई जगह पर आइकॉन इस्तेमाल करतें है। इस आलेख में में इमेज को आइकॉन में कन्वर्ट करने का तरीका बता रहा हूँ। याद रखें विंडोज में आइकॉन के लिए .ico एक्सटेंसन इस्तेमाल होता है। यदि आप अपनी छवियों को आइकन के रूप में उपयोग करना चाहते हैं, तो आपको इन छवियों को .ico एक्सटेंशन में बदलने के लिए कुछ सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता होगी। आज मैं आपको छवियों को आइकन फ़ाइलों में बदलने के लिए 5 अलग-अलग तरीके बताऊंगा।

डेस्कटॉप के लिए आइकॉन कनवर्टर्स सॉफ्टवेयर। 


सिम्पलीआइकॉन
सिम्पलीआइकॉन
1. सिम्पलीआइकॉन - ये बहुत ही आसान पोर्टेबल एप्लीकेशन है इसे चलाने के लिए आपके पीसी में नेट फ्रेमवर्क 2.0 होना जरूरी है। ये विंडो एप्लीकेशन ड्रग एन ड्राप प्रणाली पर आधारीत है, यानी आप जिस इमेज को आइकॉन में कन्वर्ट करना चाहते है उसे माउस एरो से पकड़ कर एप पे डालोगे तो ये एप 32x32, 24x24 और 16x16 साइज़ का आइकॉन अपने आप ही बना देगी। इस विंडो सॉफ्टवेयर को आप यहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं।


इमेजिकॉन
2. इमेजिकॉन - इमेजिकॉन एक ग्राफिक यूटिलिटी है जो कई छवि फ़ाइलों को परिवर्तित करने के लिए डिज़ाइन की गई है। आप छवियों को आइकन में कनवर्ट करने के लिए ड्रैग और ड्रॉप सुविधा का भी उपयोग कर सकते हैं।, इससे आप बीएमपी (BMP), जेपीजी ( JPG) या पीएनजी (PNG) छवि प्रारूपों से बीएमपी, जेपीजी, पीएनजी और आईसीओ (.ico)में कन्वर्ट कर सकते हैं। इसे डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।


फ्री इमेज टू आइकॉन

3. फ्री इमेज टू आइकॉन - इस टूल से आप बीएमपी, जेपीजी, मेटाफाइल से ट्रांसपेरेंट आइकन में कनवर्ट कर सकते हैं। आप एक ही समय में एक से बहुत सारी फाइलों को कन्वर्ट कर सकते हैं, आप ट्रांसपेरेंट कलर का चयन भी कर सकते हैं। ईआईपीसी इमेज टू आइकन कनवर्टर का एक अद्भुत इंटरफ़ेस है जिसका उपयोग करना आसान है। डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

ऑनलाइन इमेज को आइकॉन में कनवर्ट करने के लिए वेब सेवाएं।


ico कन्वर्ट
1. ico कन्वर्ट - इस वेबसाइट पर आप फ्री में आइकॉन और फेविकोन बना सकते हैं। इसके साथ आप पीएनजी या जेपीजी छवियों से आइकन बना सकते हैं, बस अपनी तस्वीर अपलोड करें, आकार बदलें और इसे क्रॉप करें, अपनी पसंद के आकार में कनवर्ट करें, इसमें आप बोर्डर और छाया जोड़ें और सेव करें पीएनजी छवि या विंडोज आइकन के रूप में। पीएनजी को आईसीओ में और आईसीओ को पीएनजी में जल्दी परिवर्तित करने के लिए बिना क्रॉप और स्टाइल के प्रक्रिया पूरी करें। वेबसाइट पे जाने के लिए यहाँ क्लिक करें।

इमेज ऑनलाइन कन्वर्ट 
2. इमेज ऑनलाइन कन्वर्ट - इस साईट पर हर इमेज फोर्मेट को कन्वर्ट करने के टूल है लेकिन आपको इमेज से आइकॉन कन्वर्ट करना तो यहाँ जाएँ। बस अपनी इमेज अपलोड करें और स्टार्ट कन्वर्शन पे क्लिक करें। वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें।

आशा करता हूँ आपको ये आलेख पसंद आया होगा।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज  लाइक करें.. धन्यवाद।

03 मार्च 2014

क्या आप ताजा जानकारी के लिए गूगल सर्च करते हैं?

क्या आप ताजा जानकारी के लिए गूगल सर्च करते हैं।




नमस्कार मित्रों, जैसा की आप सब जानते हैं कि ज्यादातर सर्च इंजन पर कुछ दिनों या कुछ घंटों पहले तक कि ही जानकारी होती है, ओर आप ऐसी जानकारी के लिए गूगल कि मदद लेते हैं लेकिन गूगल ही सब कुछ नहीं है ,  कुछ वेबसाइटस् हैं, जो रियल टाइम सर्च में मदद करती है, जिनके बारे में मैं बताने जा रहा हूँ।

गर आप दुनियाभर की खबरों,वीडियो ओर इमेज को सर्च करना चाहते हैं, तो टॉप्सी आपकी मदद कर सकता है। इसमें सर्च रिजल्ट्स को पिछले एक घंटे या एक दिन जैसी केटेगरी में बांटा गया है। यह 10 भाषाओँ में उपलब्ध है। खास बात ये है कि ये गूगल प्लस के ताजा अपडेट्स को भी शामिल करता है। इसके अलावा ट्विटर पर कि गयी ट्वीट्स को भी आप इस पर आसानी से सर्च कर सकते हैं।

न.2 rediff.com
गर आप देश दुनिया कि इस वक्त घटित हो रही घटनाओं को सर्च करना चाहते हैं, तो आप रेडिफ रियल टाइम न्यूज सर्च इंजिन का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह आपको सर्च के लिए कीवर्ड्स का भी सुझाव देता है। इसके अलावा इसमें जैसे ही आप टाइप करने जाते हैं, वैसे ही न्यूज की खोज शुरू हो जाती है।

बिंग ने ट्विटर के साथ समझोता किया है। इसके कारण इसकी सोशल सर्च काफी मजबूत है। अगर आप कोई कीवर्ड टाइप करते हैं, तो तुरंत ताजा ट्विटर अपडेट्स नजर आने लगती है। इसमें आप खास मुददों को अलग से हाईलाईट कर सकते हैं। आप चांहे तो सर्च को घंटों के हिसाब से भी बाँट सकते हैं। आप बिंग ट्वीट्स मैप्स कि मदद से दुनियां के अलग-अलग इलाकों से हुए ट्वीट्स के विषय में जान सकते हैं।

किसी खबर के घटित होते ही आप तुरंत जानना चाहते हैं, तो आप ट्वाजअप पर जा सकते हैं। यह रियल टाइम न्यूज कि टैगलाइन के साथ सर्च कि सुविधा देता है। अगर आप इसमें कोई शब्द टाइप करते हैं, तो  उससे जुडी ट्वीट्स, न्यूज ओर लिंक आपके सामने कुछ ही पलों में आ जाते हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी कमेन्ट के माध्यम से जरुर बताएं।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज  लाइक करें.. धन्यवाद।

28 फ़रवरी 2014

कांफ्रेंसिंग के लिए बनाएँ पर्सनल प्रोफाइल पेज



वीडियो कोंफ्रेंस का बिजनेस आउटसोर्सिंग में काफी महत्व है, क्योंकि ग्लोबल विलेज में तब्दील हो चुकी दुनियां में वीडियो कोंफ्रेंस के जरिये आप किसी भी हिस्से में मौजूद अपने टीम मेंबर, क्लाइंट या फिर कस्टमर के सम्पर्क में रहते हैं। इसी कि जरुरत को ध्यान में रखते हुए कुछ वेबसाइट वीडियो कोंफ्रेस के लिए शानदार विकल्प उपलब्ध करा रही है। गूगल 'हैंगआउट' के जरिये ऐसी ही सेवा दे रहा है। लेकिन इस से भी आसान सेवा है 'मीटिंग्स' जो वीडियो कोंफ्रेस को ओर भी आसान बना देती है।

कैसे शुरू करें पर्सनल वीडियो कोंफ्रेस रूम?

पर्सनल वीडियो कोंफ्रेस रूम बनाने के लिए आपको यहाँ क्लिक कर मीटिंग्स कि वेबसाइट पर जाना होगा, यहाँ आपको 'गेट ए मीटिंग रूम' ऑप्सन मिलेगा, जहाँ आप पर्सनल ऑनलाइन मीटिंग रूम तेयार कर सकते हैं। इसके वेब पते को आप किसी के साथ शेयर कर वीडियो कोंफ्रेस कर सकते हैं। आप चाहें तो यहाँ से इम्बेड कोड लेकर अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इस मुफ्त सेवा कि एक ओर खूबी है कि एक बार तेयार किये गए प्रोफाइल को ही भविष्य में इस्तेमाल कर सकते हैं। आज का लेख आपको कैसा लगा कमेन्ट के माध्यम से जरुर बताएं।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज  लाइक करें.. धन्यवाद।

27 फ़रवरी 2014

गूगल ही सब कुछ नहीं

मित्रों सबसे पहले तो सभी को महाशिवरात्री पर्व कि हार्दिक शुभकामनाएं। अब बढते है आज के लेख कि तरफ,  क्या आप इंटरनेट पर कुछ भी सर्च करने के लिए सिर्फ गूगल  कि मदद लेते हैं? हो सकता है कि आप याहू या बिंग पर भी सर्च करते हों। पर इनके अलावा भी कई ऐसे सर्च इंजन है, जो खास तरह कि सर्च करते हैं और इंटरनेट पर आपके काम को आसान बना सकते हैं। 

ऐसे ही कुछ सर्च इंजन में आपको बता रहा हूँ जो निम्न है -:

सोशल सर्च के लिए
scour.com

अब आप स्कोर डॉट कॉम कि सहायता से सर्च के साथ सोशल नेटवर्किंग का कॉम्बीनेशन देख सकते हैं। इससे ट्विटर और फेसबुक के पेज कि सर्च आसान हो जाती है। स्कोर डॉट कॉम पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें।

लोगों(व्यक्तियों) को तलाशने के लिए
pipl.com

अगर आप अंतर्जाल पर लोगों को ढूँढना चाहते हैं तो पीपल डॉट कॉम कि सहायता ले सकते हैं। वेबसाइट पर जाकर अगर आप किसी व्यक्ति का नाम और उसकी लोकेशन टाइप करेंगे तो उससे सबंधित जानकारियाँ विशिष्ट तरीके से नजर आएगी। यह जानकारियों को सर्च करने के लिए डीप वेब का इस्तेमाल करता है। पीपल डॉट कॉम पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें।

सवाल का जवाब पाने के लिए
answers.com

 अगर आपको अपने हर सवाल का जवाब तुरंत मिल जाए तो कैसा रहेगा? जी हाँ अब आप आंसर डॉट कॉम कि सहायता से हर सवाल का जवाब आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। यह दुनिया कि प्रमुख पांच भाषाओँ में काम करने वाला सर्च इंजन है। इसकी शुरुआत इजराइल में हुई थी। इसकी खास बात है कि यह वेबसाइट आपके पास अलग-अलग सोर्स से जानकारियाँ जुटाता है और उन्हें एक साथ प्रजेंट करता है। इसमें आप कई केटेगरी में सर्च कर सकते हैं। इस वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें।

गणित कि समस्या के हल के लिए
wolframalpha.com

शोध कि दुनिया में रहने वालों को नित नई तरह कि कैलकुलेशन करनी पड़ती है। अब आप यह काम आसानी से कर सकते हैं। इसके लिए आप वोल्फ्राम अल्फ़ा वेबसाइट कि मदद ले सकते हैं। अगर आप सर्च इंजन में मैथ टाइप करेंगे तो वेबसाइट कि लिस्ट कि बजाय विशिष्ट जानकारियाँ नजर आएगी। इस साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें।

हर सर्च इंजिन कि सर्च करने के लिए
dogpile.com

डॉगपाईल सर्च इंजिन कि खासियत है कि यह भी बड़े सर्च इंजिन जैसे गूगल, याहू और बिंग के नतीजों को एक साथ पेश करता है।इसमें ऑडियो और वीडियो सर्च भी आसानी से मिल सकता है। इस वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें। आज का लेख आपको कैसा लगा कमेन्ट के माध्यम से जरुर बताएं, अच्छा लगे तो शेयर जरुर कर दें।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक करें.. धन्यवाद।

14 फ़रवरी 2014

अपने फेसबुक पेज को बनाये वेबसाइट


sitefly


नमस्कार मित्रों, क्या आपने फेसबुक पर पेज बना रखा है, यदि हाँ तो उस पेज को आप आसानी से वेबसाइट में बदल सकते है। इसके लिए आपको ज्यादा मेहनत करने की जरुरत नहीं है। 
अंतर्जाल पर ऐसी ढेरों साईट मौजूद है जिसके जरिये आप अपने फेसबुक पेज को वेबसाइट में बदल सकते है। लेकिन सबसे आसान तरीका साईट फ्लाई नामक वेबसाइट का है। अपने फेसबुक पेज को वेबसाइट में बदलने के लिए यहाँ क्लीक करें।

28 सितंबर 2013

क्या आप अपना ईमेल ट्रैक करना चाहते हैं ?

क्या आप अपना ईमेल ट्रैक करना चाहते हैं



मित्रों यदि आप ये जानना चाहते है की आपका भेजा हुआ ईमेल खोला गया या नहीं  या फिर कब खोला गया तो इसके लिए मैं आपको दो तरीके बताता हूँ।

एम्बेडेड ए कोड

अगर आप पता करना चाहते हैं की आपका ई मेल खोला गया या नहीं, तो आप ऐसी सर्विस का भी इस्तेमाल कर सकते हैं जिसमें आपको मेल भेजने से पहले एक कोड जोड़ना होगा। इसके लिए आपको www.spypig.com पर जाना होगा। इसमें एक ट्रेकिंग इमेज जनरेट होगी। आपको सिर्फ जनरेट इमेज कोपी करके इसे मैसेज बोडी में पेस्ट करना होगा। जब आपका मेल सामने वाला  खोलेगा तो आपको नोटिफिकेशन मेल मिलेगा। www.whoreadme.com और www.getnotify.com भी यही काम करती है ।


एड-ऑन का इस्तेमाल


फ़ायरफ़ॉक्स और गूगल क्रोम यूजर्स एक एड ऑन इंस्टाल कर सकते हैं, जो जीमेल के साथ इन्टीग्रेट होकर ट्रैकिंग कर सकता है। इसके लिए www.bana-natag.com और  www.rightinbox.com की मदद ले सकते हैं। दोनों वेबसाइट यह पता कर सकती है की आपके द्वारा भेजा गया मेल कब खोला गया और कितनी बार एम्बेडेड लिंक पर क्लिक किया गया। दोनों सर्विसेज में एक मुफ्त प्लान है। बनानाटैग में 5 मेल्स/प्रतिदिन और राइटइनबॉक्स के लिए 10 मेल्स/प्रतिमाह मुफ्त है।

आज बस इतना ही फिर मिलते है कुछ अलग सी पोस्ट लेकर, धन्यवाद।



अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज भी लाइक करें.. धन्यवाद..

02 सितंबर 2013

अपने किसी भी ऑनलाइन अकाउंट को डिलीट करें।

 
justdelete
justdelete

मित्रों फेसबुक और दुसरी सोशल वेबसाइट पर हम अकाउंट बना तो लेते हैं, लेकिन कई बार अनुपयोगी होने की वजह से हमें उन्हें डिलीट करने की जरुरत होती है। ऐसे में हम वेबसाइट का वो लिंक ढूढने की कोशिश करते है,जिस पर जाकर हम अपने अकाउंट को डिलीट कर सकें। लेकिन ये इतना आसान काम नहीं। अधिकतर वेबसाइट ये नहीं चाहती की उनके यूजर्स संख्या कम हो, इसलिए वह अकाउंट के डिलीट वाले लिंक को इतना छिपा कर रखती है कि यूजर उस पर आसानी से नहीं पहुँच पाते। ऐसे में या तो सर्च करने में ज्यादा वक्त खराब होता है या फिर यूजर अकाउंट डिलीट किये बिना ही उस वेबसाइट को बंद कर देता है।

लेकिन इस समस्या का समाधान है "जस्टडिलीट" यह एक वेबसाइट है जो इंटरनेट कि पोपुलर 125 से भी ज्यादा सेवाओं के अकाउंट को डिलीट करने के लिंक एक साथ आसान इंटरफेस में उपलब्ध कराती है। इस वेबसाइट कि मदद  से किसी भी साईट पर बना अपना अकाउंट कुछ ही पल में डिलीट कर सकते है।

डिलीट करने का तरीका

सबसे पहले आप निम्न लिंक पर जाएँ -
http://justdelete.me
यहाँ आपको लगभग सभी लोकप्रिय वेबसाइट दिखाई देंगी। अपनी मनचाही वेबसाइट को चुनिए और उस पर बने अकाउंट को डिलीट कर दीजिए। यहाँ आसान, मध्यम और मुश्किल या असंभव कैटेगरी दी गयी है। यह अकाउंट को डिलीट करने कि प्रक्रिया के आधार पर तय की गयी है। इससे यह पता लग जाता है की अकाउंट को डिलीट करना कितना आसान है। इस वेबसाइट का गूगल क्रोम एक्सटेंशन भी उपलब्ध है। तो अगली बार कोई अकाउंट डिलीट करना हो तो इसे जरुर आजमाके देखें। धन्यवाद।


अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज भी लाइक करें.. धन्यवाद..

21 अगस्त 2013

क्या आपको फिल्म मेकिंग का शौक है?

 
शॉटक्लिप
शॉटक्लिप


नमस्कार मित्रों, क्या आपको फिल्म मेकिंग की कला सिखने का शौक है? भले हि आप प्रोफेशनल फिल्ममेकर नहीं बन पाएं, लेकिन आप फिल्ममेकिंग का शौक जरुर पूरा कर सकते हैं। इन्टरनेट पर कुछ ऐसी वेबसाइट्स मौजूद है जो आपके फिल्ममेकिंग और एडिटिंग के आसान तरीके सिखाती है। यहाँ आपको किसी तकनीकी दक्षता की जरुरत नहीं। इस वेबसाइट पर दी गयी आसान सी स्टेप्स को पूरा कीजिये और आपकी होम फिल्म तेयार हो जाती है। सबसे अच्छी बात यह है की इसके लिए न तों आपको महँगा कैमरा खरीदने की जरुरत और ना हि कोई भारी-भरकम फीस वाला एडिटिंग सॉफ्टवेयर। आप अपने हेंडीकैम या फिर अपने स्मार्टफोन से भी होम फिल्म शूट कर सकते है। 'शॉटक्लिप' भी इसी तरह की वेबसाइट है, जो आपको होम फिल्म तेयार करने की सुविधा देती है।

बनाए सिर्फ तीन स्टेप में होम फिल्म।

होम फिल्म बनाने के लिए आपको सबसे पहले 'शॉटक्लिप' वेबसाइट पर जाना होगा, आप यहाँ क्लीक करके वेबसाइट पर जा सकते है। इस वेबसाइट पर आपको अकाउंट बनाना होगा और फिर लोगिन करें, इसके बाद आपको यह प्री-डिफाइन या ब्लेंक टेम्पलेट उपलब्ध करता है। आप यहाँ डी गई रिक्वायरमेंट के अनुसार अपनी फिल्म के शोट्स को शूट कीजिये और उन्हें यहीं दिए गए विकल्पों से आसानी से एडिट भी कर लीजिए। इस वेबसाइट पर फ्री अकाउंट के तहत आपको 5 गीगाबाइट (जीबी) की स्टोरेज कैपिसिटी मिलती है और आप 15 मिनट का वीडियो एक्सपोर्ट कर सकते है। जैसे हि आपकी फिल्म तेयार हो जाती है, इसे आप अपनी मनचाही सोशल वेबसाईट पर शेयर कर सकते हैं।       


अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज भी लाइक करें.. धन्यवाद..

16 जुलाई 2013

बिना पासवर्ड का ई-मेल आई डी

 
मेलिनेटर
मेलिनेटर

क्या आप अपने ई-मेल इनबॉक्स में स्पैम मेल्स की भरमार से परेशान हैं। ऐसा अक्सर इसलिए होता है, क्योंकि इन्टरनेट पर जब भी कोई वेबसाईट आपसे साइन-अप करवाने के लिए आपका ई-मेल पता मांगती है, तो आप उसे अपना पर्सनल ई-मेल पता दे देते हैं। इसके बाद ई-मेल इनबॉक्स में स्पैम की बाढ़ शुरू हो जाती है। इससे बचने का आसान तरीका यही है की पर्सनल ई-मेल पते को आप दुसरी वेबसाइट्स के साथ शेयर ना करें। कई यूटिलिटी वेबसाइट्स पर आपसे साइन अप करवाया जाता है, ऐसे में वेरीफिकेशन के लिए ई-मेल पता भी माँगा जाता है। फोरम्स में भी ई-मेल पते के साथ रजिस्ट्रेशन जरूरी होता है, सवाल ये है की ऐसी जगहों पर कौन सा ई-मेल पता शेयर किया जाए? इस परेशानी का हल आपको "मेलिनेटर" वेबसाईट पर मिलेगा। ये आपको खास सुविधा देती है। आप इस साईट पर विजित और साइन अप किये बगैर ही पना ई-मेल पता हासिल कर सकते हैं।

इसके लिए आप किसी भी वेब या फोरम पर अपनी पसंद के नाम के साथ (एट मेलिनेटर डॉट कॉम) ई-मेल पता शेयर कीजिये।
जैसे - facebook@mailinator.com या yourname@mailinator.com 


यह जरूरी नहीं है की इस पते का आपने पहले से ही रजिस्ट्रेशन कराया हो या फिर यह ई-मेल पता किसी और ने ना ले लिया हो। आप मनचाहे पते का इस्तेमाल कर सकते हैं, जब आप इन्बोक्स खोलना चाहें तो नीचे दिए गए लिंक पर जाएँ - http://mailinator.com  

यहाँ यूजरनेम भरते ही आपका इनबॉक्स खुल जायेगा, और किसी पासवर्ड की जरुरत नहीं, इस पते पर प्रायवेसी नहीं है, इसलिए आप व्यक्तिगत मेल इस पते पर ना भेजे।
 



अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज भी लाइक करें.. धन्यवाद..

27 मई 2013

फेसबुक को चुनोती देती वर्ल्डफ्लोट।


 
worldfloat
worldfloat

मित्रों आप केवल नेटवर्किंग वेबसाइट के तौर पर फेसबुक का इस्तेमाल जरुर करते होंगे। अब फेसबुक और ट्विटर को एक नई सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट टक्कर दे रही है, वेबसाइट का नाम है वर्डफ्लोट
 

इस वेबसाइट पर आपको फेसबुक और ट्विटर से अलग कई नयी चीजें नजर आएंगी। खास बात है की ये वेबसाइट भारत में हि तेयार हुयी है। अभी इसके यूजर्स की संख्या करीब 60 लाख के करीब है। इस वेबसाइट पर आपको गेम्स, हेल्थ और ट्रेवल जैसे कई ऑप्सन देखने को मिलेंगे, इस वेबसाइट पर आप फेसबुक से लोगिन भी कर सकते हैं...

जहाँ एक तरफ दुनिया में फेसबुक के प्रति लोगों की दीवानगी कम हो रही है और दुसरी तरफ वर्ल्डफ्लोट तरक्की कर रही है।
अब इतनी खूबियां बताई है है तो जाहिर है आप भी यहाँ जाना चाहोगे, तो वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें।



अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज भी लाइक करें.. धन्यवाद..

17 अप्रैल 2013

विकिपीडिया का ट्रैवेल गाइड



अगर आप इन्टरनेट पर ट्रैवल से सबंधित जानकारी खोज रहे हैं तो अब आपके लिए विकिपीडिया मददगार साबित हो सकता है,विकिपीडिया ने हाल ही फ्री ऑनलाइन ट्रैवेल गाइड लोंच किया है, इसे विकिमीडिया फाउंडेशन ने लाँच किया है, इसके लिए आप http://www.wikivoyage.org/ पर जा सकते हैं, गोरतलब है की विकिपीडिया एनसाइक्लोपीडिया पूरी दुनिया में मशहूर है, ऐसे में इसने आधा दर्जन भाषाओँ में ट्रैवेल गाइड लोंच किया है, इस ट्रैवेल गाइड में शुरूआती तौर पर 50,000 आर्टिकल्स है, पर्यटन से जुडी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए इन्टरनेट पर भटकने वाले यूजर्स के लिए यह वेबसाइट काफी उपयोगी साबित हो सकती है, लोगो की प्रतिक्रिया को ध्यान में रखकर आगे इस वेबसाइट पर और ज्यादा आर्टिकल्स को जोड़ा जायेगा, दुनियाभर में पर्यटन के बढते क्रेज को देखते हुए या वेबसाइट हर किसी के लिए लाभदायक है...

स्रोत -: राजस्थान पत्रिका 




अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज भी लाइक करें.. धन्यवाद..

09 मार्च 2013

ऐसे ओर्गेनाइज़ होगा आपका ई-मेल इनबॉक्स

otherinbox
otherinbox
जीमेल और कुछ दुसरी मेल सेवाएं आपको 'प्रायरिटी इनबॉक्स' की सुविधा तो देती है, लेकिन इनके लिए सेट्टिंग को समझ पाना आप यूजर के लिए थोडा मुश्किल है। यही वजह है की ज्यादातर यूजर्स अपने इनबॉक्स की मेल्स को सोर्ट करने के लिए इस सुविधा का इस्तेमाल नहीं करते।

इन्टरनेट पर ऐसी कई साइट्स भी मौजूद है, जो आपके  लिए ई-मेल को सोर्ट करने और उन्हें श्रेणी के हिसाब से अलग-अलग फोल्डर में सेव करने का काम आसानी से करती है। ऐसी साइट्स एक बार मेल अकाउंट का एक्सेस लेने के बाद उन्हें श्रेणीबद्ध रूप में बाँट देती है, 'अदरइनबॉक्स' वेबसाइट भी ओर्गेनाइज़र टूल की मदद से इनबॉक्स को ओर्गेनाइज़ कर देती है।


आपको देना होगा ई-मेल का एक्सेस

यह सुविधा एओएल, जीमेल, याहू और आइक्लाउड जैसे अकाउंट के लिए उपलब्ध है। इसके लिए सबसे पहले आपको निम्न वेब पते पर जाना होगा -:
http://otherinbox.com/organizer/
इसके बाद आप उस मेल विकल्प को चुनिए जिसे आप ओर्गेनाइज़ करना चाहते हैं, ई-मेल लोगिन करने के बाद या आपके इनबॉक्स की मेल्स को अलग-अलग डिफाल्ट फ़ोल्डर्स में सेव करना शुरू करता है। वेबसाइट न्यूज़लेटर भी भेजती है, ताकि पता चल सके की इसने आपकी मेल किस तरह सोर्ट की है।

 अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज भी लाइक करें.. धन्यवाद..

27 फ़रवरी 2013

फेसबुक चेट और स्टेट्स के लिए स्माइली कोड

 नमस्कार मित्रों, इतने दिनों मैं अपने व्यक्तिगत काम में व्यस्त था इसलिए समय नहीं निकाल पाया आज फ्री होते ही आपके लिए लाया हूँ फेसबुक से सबंधित आई मैजिक,  आज के समय फेसबुक अमूमन सभी इस्तेमाल करते है, और फेसबुक चेट का भी, और चेट में स्माइली का बहुत बड़ा योगदान होता है, जो बात हम लिखकर कहना चाहते है. वो बात हम स्माइली के जरिये जाहिर कर सकते है, वैसे फेसबुक चेट में स्माइली का ऑप्सन भी है लेकिन कुछ और भी कोड है जो निम्न चित्रानुसार है, ध्यान से देखने के लिए कृपया तस्वीर को सेव करें और फिर देखें...
fb chat code
fb chat code

20 जनवरी 2013

बनाईये अपनी तस्वीर युक्त कलेंडर फ्री

calendarika
calendarika

Do you often forget what date it is today? Or may be just want to make some practical and fun thing with your photos? Both this problems you can resolve on a new website. You can create personal wallpaper with a calendar in several seconds. Notice, it is not just interesting but also easy, free.


क्या आप अक्सर भूल जाते हैं की आज तारीख क्या है? या सिर्फ अपनी तस्वीरों के साथ कुछ व्यावहारिक और मजेदार करना चाहते हो ? आपकी दोनों समस्याओं का हल एक वेबसाइट पर हो सकता है।


इसका नाम है कलेण्डरिका!


इसमें आप कुछ ही समय में मनचाहा टेम्पलेट चुनकर अपना व्यक्तिगत वालपेपर बना सकते हैं, वो भी कलेंडर के साथ,
बिलकुल दिलचस्प वेबसाइट है और फ्री भी, इसमें आप अपने कलेंडर पर कुछ संदेश भी लिख सकते हो, एकदम मस्त आइडिया है और वो भी फ्री,  मैंने तो अपना कलेंडर बना लिया आप कब बना रहे हो .. 
वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें ..

my calendar
my calendar
अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज भी लाइक करें.. धन्यवाद..

19 जनवरी 2013

अंतर्जाल पर अपने नाम की उपलब्धता की जाँच करें

namecheckr
namecheckr

NameCheckr is a resource which allows you to check the domain availability and social profile availability your desired name or brand for yourself or your upcoming project.

नेमचेकर एक ऐसी वेबसाइट है जहाँ आप अपने नाम की उपलब्धता जाँच कर सकते हैं, जैसे की आपका नाम सोशियल प्रोफाइल या अपने ब्रांड नेम के लिए उपलब्ध  है या नहीं,..


आपको इस वेबसाइट से फायदा ये होगा की आप पहले से ही अपने नाम की जाँच कर सकते है की सोशियल साईट या फिर अपने नाम का डोमेंन आपके नाम से उपलब्ध है या नहीं, जाँच करने के लिए बस आपको अपना इच्छित नाम brand name बॉक्स में लिखना है और इंटर की दबाना है, नतीजा आपके सामने होगा, मैंने dineshnhr की उपलब्धता जाँच की तो परिणाम  चित्रानुसार मिला ,बहुत की काम की वेबसाइट है




इस्तेमाल करके जरुर देखें....

वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें


अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक भी करें.. धन्यवाद..

14 जनवरी 2013

कंप्यूटर गेम्स के शोकिनो के लिए

जपाक डॉट कॉम
zapak


नमस्कार मित्रों आज आपके लिए उपयोगी वेबसाइट सीरीज में लेकर आया हूँ,  एक अच्छी सी कंप्यूटर गेम्स साईट।

अगर आप कंप्यूटर गेम्स के शोकीन है, तो आपके लिए बहुत कुछ भारत का सबसे बड़ा गेमिंग पोर्टल आपके लिए न सिर्फ गेम्स लायें हैं बल्कि साथ में ई-मेल सुविधा भी उपलब्ध है। बस ज़ूम से वेबसाइट खोलिए और हो जाइये तैयार गेम खेलने के लिए। क्योंकि इस वेबसाइट में आपको ऑनलाइन गेम खेलने और डाउनलोड दोनों की सुविधा मिलती है, और इस वेबसाइट पर आप अपने फेसबुक अकाउंट से लोगिन कर सकते है।

एक बार जरूर ये वेबसाइट इस्तेमाल करके देखे और अपने अनुभव जरुर बताएं ..धन्यवाद


 वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें ..

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक भी करें.. धन्यवाद..
loading...