Hindi Tech Blog

22 सितंबर 2018

नया माउस खरीदने से पहले ये बातें जान लें।


नमस्कार दोस्तों, हम मे से कोई भी जब सिस्टम अपग्रेड की बात सोचते हैं तो माउस के बारे में ज्यादा ध्यान नहीं देते। ज्यादातर यूज़र तो ये समझते हैं की सभी माउस एक जैसे ही होते हैं। लेकिन हकीकत में ये एकदम अलग है। माउस सबसे ज्यादा इतेमाल किये जाने वाला हार्डवेयर है, इसलिए जब भी नया खरीदने की सोचें तो तो ध्यान रखें की अच्छा माउस आपके काम और गेमिंग को ना केवल बेहतर बनाएं बल्कि आपकी कलाई और अँगुलियों के लिए भी आरामदायक हो।

नया माउस लेने से पहले इसके प्रकार, फीचर्स और इस्तेमाल से जुडी पूरी जानकारी आपको सही माउस लेने में मदद करेगी।

1. साइज़ - माउस अधिकतर 2 साइज़ में उपलब्ध होते हैं। फुल और ट्रैवल साइज़। ट्रैवल माउस उनके लिए सबसे सुविधाजनक होता है जिनकी हथेली छोटी होती है, इसे आप ट्रैवल में काम में लो या घर पे, वहीं दुसरी और ट्रैवल करने वालों के लिए फुल साइज़ माउस बेहतर होगा क्योंकि खराब फिटिंग वाला माउस आपको काम करते समय परेशनी में डाल सकता है।

2. वायरलेस या वायर्ड माउस - अगर आप वायर की समस्या से दूर रहना चाहते हैं तो आपके लिए वायरलेस माउस बेहतर विकल्प होगा। बस इसमें बैटरी खत्म होने की समस्या बनी रहती है। कुछ वायरलेस माउस ऑन-ऑफ़ बटन के साथ आते हैं तो कुछ चार्जिंग डॉक के साथ। इसके लिए काम पूरा होने पे इसे ऑफ या चार्जिंग डॉक में रखने की आदत डालनी पड़ेगी। अक्सर ट्रैवल करने वालों के लिए वायरलेस माउस उपयोगी है, वायर्ड माउस में आप स्क्रीन से उतना दूर ही रह सकते है जितनी इसकी वायर होती है। इसलिए आपके सुविधानुसार इनमे से चुने।
वायरलेस माउस का एक उदाहरण 


3. लेजर या ऑप्टिकल माउस - माउस हमेशा 'डॉट्स पर इंच' (DPI) के हिसाब से ट्रेकिंग करता है। ऑप्टिकल माउस 400 से 800 डीपीआई के बीच और लेजर माउस आमतौर पर 2000 डीपीआई से ज्यादा ट्रैक कर सकता है। ऑप्टिकल माउस रोजमर्रा की जरूरत में और लेजर माउस गेमर्स और ग्राफिक डिजाईन करने वालों के लिए बेहतर है।

4. बटन - कुछ माउस में मिडल स्क्रोल व्हील के अलावा और भी बटन होते हैं जो साइड में लगे होते हैं, ये किसी विशेष फंक्शन के लिए काम आते हैं। ये उन यूजर्स के लिए कभी सहायक है जिन्हें एक ही तरह के प्रोग्राम पर लगातार काम करना हो।

स्पेशल बटन माउस का एक उदाहरण 

उपरोक्त चारों बातें ध्यान में रखकर माउस खरीदेंगे तो आपको कभी भी परेशानी महसूस नहीं होगी। आज बस इतना ही।
अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक करें, धन्यवाद।

21 सितंबर 2018

एंड्राइड के लिए कुछ खास एप्स



नमस्कार दोस्तों, आपका स्वागत अपना अंतर्जाल पे। आज मैं आपके लिए लेके आया हूँ एंड्राइड स्मार्टफोन के लिए कुछ उपयोगी एप्स। आगे बढने से पहले कुछ कहना चाहूँगा की आप इस ब्लॉग को बुकमार्क कर लें। और अपने मित्रों को भी ये ब्लॉग शेयर करें। हिंदी में अभी तक अंतर्जाल पर तकनीकी के बहुत ही कम वेबसाइट और ब्लॉग है, इसलिए ये आप और आपके मित्रों के लिए बहुत काम का ब्लॉग साबित हो सकता है। रोज यहाँ आएँ कुछ ना कुछ आपके काम का ही मिलेगा।

अब बात करते है एंड्राइड की 5 उपयोगी एप्स के बारे में:-


Signature Lock Screen
1. सिग्नेचर लॉक स्क्रीन : यूँ तो आपके एंड्राइड स्मार्टफोन के लिए प्ले स्टोर पर बहुत सी लॉक एप्स मिल जाएँगी लेकिन सिग्नेचर लॉक एप्स अपने आप में खास है, इसमें आप अलग-अलग लेटरशेप, नम्बर्स या अपने सिग्नेचर से ही लॉक कर सकते हैं। इससे अपने फोन में अलग लॉक पैटर्न का भी उपयोग कर सकते हैं। ज्यादा अच्छा तो ये रहेगा आप अपने सिग्नेचर से ही लॉक करें ताकि लॉक कोई और खोल ही ना सके, ये बिलकुल वैसा ही होगा जैसे आजकल बहुत से स्मार्टफोन में फिंगरप्रिंट सेंसर वाले लॉक आते है जो यूजर के अलावा कोई नहीं खोल सकता। ये एप डाउनलोड करने के लिए प्ले स्टोर पे जाएँ या फिर यहाँ क्लिक करें।


Where is my Train
2. वेयर इज माई ट्रेन : ज्यादा घुमने फिरने वाले शौकीनों के लिए ये एप बहुत ही उपयोगी है। इसमें ट्रेन के बारे में ऑफलाइन जानकारी मिलती है। बाकि पीएनआर की जानकारी और सीट की जानकारी के लिए ऑनलाइन होना पड़ेगा। और इसमें आप जहाँ जाना चाहते हैं, वहां के लिए अलार्म भी लगा सकते हैं। ये एप डाउनलोड करने के लिए प्ले स्टोर पे जाएँ या फिर यहाँ क्लिक करें।


NoxCleaner
3. नॉक्स क्लीनर : इस एप के जरिए आप अपने एंड्राइड स्मार्टफोन की मेमोरी को सुधार सकते हैं। यह फोन की कैश मेमोरी जंक फाइल्स को हटाकर फोन को गतिशील बनाता है। और इस एप की सबसे बड़ी खास बात ये है की ये पुराने फोटोज चुनता है और जो डुप्लीकेट है केवल वही दिखाता है, जिन्हें आसानी से हटा सकते हैं। बाकि आपको एप इनस्टॉल करने पर इसकी खासियत अपने आप मालूम हो जाएगी। ये एप डाउनलोड करने के लिए प्ले स्टोर पे जाएँ या फिर यहाँ क्लिक करें।


inFact - News, Facts and more
4. इन्फैक्ट : यह एप अपने आप में अनोखी है, इस एप के जरिये आप किसी भी फैक्ट के बारे में जानकारी ले सकते हैं। जिस टॉपिक के बारे में आप जानना चाहे उसके बारे में जानकारी ले सकते हैं। और देश-दुनियां में और आस-पास क्या हो रहा है इसकी जानकारी भी ले सकते हैं। ये एप डाउनलोड करने के लिए प्ले स्टोर पे जाएँ या फिर यहाँ क्लिक करें।

PixLocate
5. पिक्सलोकेट : आजकल फोटो लेना तो आम बात है, यह एप फोटो की लोकेशन दर्शाती है,  आपके स्मार्टफोन गैलरी में जितने भी फोटो हैं उसकी लोकेशन पता चलती है। और अमुक जगह कितनी फोटो आपने ली ये जानकारी भी ये एप देती है। इससे आप फोटो भी शेयर कर सकते हैं। ये एप प्ले स्टोर पर नहीं है,  डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

तो मित्रों आज के लिए बस इतना ही मिलते हैं अगली पोस्ट में एक नए विषय के साथ।


अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक करें, धन्यवाद।

20 सितंबर 2018

पीडीएफ फाइल्स कम्बाइन करें इन आसान तरीकों से


नमस्कार दोस्तों, आपका स्वागत अपना अंतर्जाल पे।


दोस्तों आजकल पीडीएफ फ़ाइल का इस्तेमाल कुछ ज्यादा ही होता है जैसे किसी कम्पनी को डिजिटल रिज्यूमे भेजना हो या कोई ऑफिसियल डाक्यूमेंट्स भेजने हो या फिर डिजिटल बुक्स हो, पीडीएफ को इन सभी काम में ऑनलाइन इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए इसे फ़ाइल फोर्मेट में कन्वर्ट करके, मल्टी पीडीएफ फ़ाइल को सिंगल डाक्यूमेंट्स में बनाने के लिए वैसे तो प्रोफेशनल स्किल होना जरूरी है, लेकिन अगर आप भी पीडीएफ फाइल्स को खुद मल्टी से सिंगल फ़ाइल् में कम्बाइन करना चाहते हैं तो आप विंडोज और वेब टूल्स की मदद से ये कर सकते हैं।

विंडोज से कम्बाइन ऐसे करें

Acrobat Dc Pro
विंडोज के लिए आपको एडोब एक्रोबेट डीसी का प्रीमियर वर्जन सॉफ्टवेयर इनस्टॉल करना होगा, जो दुनिया का सबसे अच्छा पीडीएफ एडिटर है। अब आप सोचेंगे प्रीमियर वर्जन है तो खरीदना पड़ेगा, लेकिन नहीं आपको इसे खरीदने की जरूरत नहीं, इसका ट्रायल बिलकुल फ्री है, लेकिन सिर्फ 7 दिनों के लिए। इसका इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले आप इसे डाउनलोड और इनस्टॉल करें, डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें। इनस्टॉल होने के बाद इसे ऑपन करें और सबसे बाएं उपर कोने पर स्थित टूल टेब्स पर और फिर कम्बाइन फाइल्स बटन को क्लिक करें। अब एड फ़ाइल बटन को क्लिक करके कम्बाइन किये जाने वाली सभी पीडीएफ फाइल्स को सिलेक्ट करें और कम्बाइन बटन पर क्लिक कर दें। इस तरह आपकी कई पीडीएफ फ़ाइल एक सिंगल पीडीएफ में बदल जाएगी।

ऑनलाइन कम्बाइन का तरीका

PDF Merge

पीडीएफ मर्ज : पीडीएफ मर्ज साईट पर एक सिम्पल विंडो मिलेगी जिसमें कई पीडीएफ फाइल्स को ड्रेग और ड्राप के लिए आप्शन दिया गया है, इस साईट पर एक बार में आप 4 फाइल्स को मर्ज कर सकते हैं। इसे पीसी पे भी इनस्टॉल कर सकते हैं, साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें।


PDF Joiner

पीडीएफ जॉइनर : इस साईट पर आप सभी फ़ाइल फोर्मेट को कन्वर्ट कर सकते हैं, लेकिन एक बार में मात्र 20 फाइल्स पे ही काम कर सकते हैं। इस साईट पे कम्बाइन करने के अलावा कम्बाइंड डाक्यूमेंट्स को टेक्स्ट या जेपीजी में बदल सकते हैं। इस साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें।

आशा करता हूँ आज का आलेख आपके लिए बहुत ही सहायक होगा।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज  लाइक करें, धन्यवाद।

19 सितंबर 2018

बेहतर ब्राउजिंग के लिए यूनिक एंड्राइड ब्राउज़र


नमस्कार मित्रों, स्वागत है आपका अपना अंतर्जाल पे। आजकल लगभग सभी के पास एंड्राइड स्मार्टफोन तो है ही, और आपके स्मार्टफोन का ब्राउज़र एक ऐसा एप है जो अधिकतर इस्तेमाल होता है।

लेकिन  क्या आपने कभी इसे बदलने का सोचा है?

यदि नहीं,  तो अब जरा सोचें क्योंकि गूगल प्ले स्टोर पर ऐसे कई ब्राउज़र हैं जो आपकी हर जरूरत को पूरा कर सकते हैं, जैसे एक सरल इंटरफेस या प्राइवेसी की आपको जरूरत है तो आप अपनी जरूरत के हिसाब से इन ब्राउज़र मेसे किसी एक को आजमा सकते हैं। जानिए ऐसे ही कुछ अच्छे ब्राउजर्स के बारे में जो सभी अपने आप में अलग-अलग अनुभव देते हैं।

1. ओपेरा टच -: यदि आप आरामदायक वेब ब्राउजिंग चाहते है, तो ओपेरा टच आपके लिए ही बना है। बड़ी स्क्रीन वाले फोन पर एक अच्छा विकल्प है। ओपेरा टच में दुसरे ब्राउज़र की तरह नीचे कोई विकल्प की लाइन नहीं मिलेगी बल्कि फ़ास्ट एक्शन बटन मिलता है जो सिंगल जेस्चर बेस्ड फ्लोटिंग बटन है। इस बटन से आप अलग-अलग दिशाओं में दुसरे टैब पर स्विच करने तथा रीलोड व सर्चिंग जैसे सभी महत्वपूर्ण काम पुरे कर सकते हैं। साथ ही साथ इस ब्राउज़र में कई स्मार्ट टूल भी हैं, इसमें से एक माय फ्लो जो आपको अपने डेस्कटॉप और फोन में मौजूद ओपेरा के बीच कंटेंट को सरल तरीके से शेयर करने की सुविधा देता है। और भी बहुत कुछ है जो आपको ब्राउजिंग का नया अनुभव देगा।
Opera Touch


2. इकोसिया ब्राउज़र -: इस ब्राउज़र का नाम शायद बहुत से यूजर ने सुना भी ना होगा! इकोसिया ब्राउज़र क्रोमियम पर आधरित एक सामान्य ब्राउज़र है। लेकिन फिर भी इसकी कुछ खासियत ऐसी है जो इसको दुसरे ब्राउजर्स से अलग बनाता है। इसे एक नॉन प्रॉफिट ऑर्गेनाइजेशन ने बनाया है, यह कस्टम सर्च इंजन के साथ आता है। इस पर होने वाली हर सर्च से मिलने वाला एड रेवन्यू पौधारोपण प्रोग्राम के लिए इस्तेमाल होता है। अगर आप एक साधारण ब्राउज़र के साथ रह सकते है तो आप इसे आजमा सकते हैं, और इस सोशल कॉज का हिस्सा भी बन सकते हैं, अब तक करीब 7 मिलियन यूजर्स की मदद से इकोसिया 36 मिलियन पौधे उगा चूका है। इकोसिया के बाकि फीचर्स गूगल क्रोम से ही मिलते जुलते हैं।
Ecosia 

3. मोजिला फायरफॉक्स फोकस -: नाम ही काफी है, डेस्कटॉप पे भी बहुत सुविधा देता है मोजिला फायरफॉक्स, तो एंड्राइड के लिए भी इससे कुछ अपेक्षा की ही जा सकती है। यूँ तो मोज़िला फायरफॉक्स के कई वर्जन पहले से ही प्ले स्टोर पर उपलब्ध है लेकिन एक नया ब्राउज़र मोजिला फायरफॉक्स फोकस, एंड्राइड के लिए बनाया है इस ब्राउज़र में आपकी डिजिटल प्रजेंस को सुरक्षित करने के लिए बनाया गया है। इसमें आपकी ब्राउज़िंग हिस्ट्री, टैब्स या ज्यादा देखी गई वेबसाइट की कोई ही लिस्ट नहीं मिलेगी। यह आपको कई टूल्स ऑफर करता है जो आपको वेबसाइट छोड़ने के बाद ट्रेक्स को कवर करने की सुविधा देता है। इसके लिए वह उन ट्रेकर्स और कुकीज को रोक देता जो आपकी ब्राउज़िंग पर नजर रखते हैं। और सबसे बड़ी खास बात ये है की आपके वेबसाइट बंद करते ही पूरी ब्राउज़िंग हिस्ट्री की डिटेल अपने आप हटा देता है, और सबसे अच्छी बाद बैकग्राउंड प्लगिन को रोक कर आपको फ़ास्ट ब्राउज़िंग का अनुभव देता है।
Firefox Focus
आपको जो भी ब्राउज़र अच्छा लगे वो इंस्टाल कर सकते हैं, डाउनलोड लिंक नाम में ही है।
अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज  लाइक करें, धन्यवाद।

18 सितंबर 2018

ऐसे सुधारें एंड्राइड स्मार्टफोन की परफोर्मेंस


नमस्कार दोस्तों! आज के समय अधिकतर लोगों के पास एंड्राइड स्मार्टफोन है,और क्यों ना हो बहुत सारी सुविधा जो मिलती है। लेकिन सुविधा के साथ-साथ समस्या भी आती है, कोई भी एंड्राइड स्मार्टफोन 6 से 12 महीने इस्तेमाल होने के बाद हेंग होने लगता है। ये समस्या आप को भी आई होगी की कोई एप खोल रहें है और उसी समय आपका स्मार्टफोन हेंग हो जाता है, उस समय वाकई गुस्सा भी बहुत आता है। आपको लगने लगता है आपका स्मार्टफोन बेकार हो गया और नया लेना पड़ेगा। लेकिन जरा ठहरें नए स्मार्टफोन के हजारों रूपये लगाने से पहले अपने स्मार्टफोन की परफोर्मेंस सुधारें।

एंड्राइड स्मार्टफोन की परफोर्मेंस सुधारने के उपाय।


1. विजेट्स को हटायें - आपके स्मार्टफोन की होम स्क्रीन पे लगे हुए फालतू के विजेट्स हटा दें, क्योंकि ये बैकग्राउंड में एप्स को ऑपन रखते हैं और सिस्टम रिसोर्स पर कब्जा भी कर लेते है। यदि आपके स्मार्टफोन की होम स्क्रीन पर बहुत सारे विजेट्स है तो आप उनको हटा के परफोर्मेंस में सुधार ला सकते हैं।

2. एप अनइनस्टॉल/डिसेबल करना - जितने भी एप्स आप इनस्टॉल करोगे, बैकग्राउंड में उतने ही प्रोसेस रन होने लगते है, जिससे सीपीयू पर लोड आ जाता है। इसकी वजह से फोन स्लो होने लगता है, कई बार इसी कारण से फोन गर्म भी होने लगता है। इसके कर्ण बैटरी की उम्र भी घटती है। इसलिए आप नियमित इस्तेमाल होने वाली एप्स ही इंस्टाल रखें बाकि को अनइनस्टॉल कर दें, चाहे वो एप फेसबुक या वाट्सएप ही क्यों ना हो। और दुसरी बात आपके फोन में कुछ ऐसी प्रीइनस्टॉल एप्स भी होती है जिसका इस्तेमाल हम कभी नहीं करते तो ऐसी एप्स को सेटिंग में जाके डिसेबल कर दें।

3. स्टोरेज स्पेस को खाली करें - कुछ एंड्राइड एप्स स्पीड के लिए डेटा कैश पे निर्भर होती है, लेकिन फोन में स्पेस कम होने की वजह से स्पीड में कमी आ जाती है,फोन की स्टोरेज फ्री रख कर फोन की परफोर्मेस सुधार सकते हैं। अगर आप स्टोरेज को फ्री करने के लिए एप हटाना नहीं चाहते और फोटो विडिओ को क्लाउड स्टोरेज पे अपलोड नहीं करना चाहते तो डेटा कैश को क्लियर करके फोन की स्पीड बढ़ा सकते हैं। इसके लिए फोन की सेटिंग में स्टोरेज सेक्शन में जाकर डेटा टेप करके क्लियर या ओके पर क्लीक करें। इससे हर एप का सेव डाटा हट जायेगा और फोन का कुछ सुधार होगा। अगर आप मैनुअली ये सब नही करना चाहते तो क्लीन मास्टर एप इस्तेमाल करें वो आपके फोन के फालतू का टेम्परेरी डाटा अपने आप साफ़ कर देगी, और स्पीड भी बढ़ा देगी।

4. हमेशां फ़ास्ट मेमोरी कार्ड इस्तेमाल करें - माइक्रो एसडी कार्ड पर एप्स हमेशां स्लो ही चलेगी, जिससे आपका फोन का स्लो होना स्वभाविक है। लेकिन कुछ एप्स कभी-कभी फोन के तेज इंटरनल स्टोरेज की बजाय माइक्रो एसडी कार्ड पर ही अपना डेटा सेव करती है। इसलिए अपने स्मार्टफोन की परफोर्मेंस को बढ़ाने के लिए फ़ास्ट मेमोरी कार्ड ही इस्तेमाल करना चाहिए जैसे युएचएस स्पीड क्लास 3 (u-3) का कार्ड इस्तेमाल करें। इस कार्ड की स्पीड रेंक आप अंतर्जाल पे तलाश कर सकते हैं।

इन सभी उपायों से ज्यादा तो नही लेकिन आपके एंड्राइड स्मार्टफोन की क्षमता 70% बढ़ जाएगी।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज  लाइक करें, धन्यवाद।