Hindi Tech Blog

क्‍वेरी ट्विटर की प्रासंगिकता द्वारा क्रमित पोस्‍ट दिखाए जा रहे हैं. तारीख द्वारा क्रमित करें सभी पोस्‍ट दिखाएं
क्‍वेरी ट्विटर की प्रासंगिकता द्वारा क्रमित पोस्‍ट दिखाए जा रहे हैं. तारीख द्वारा क्रमित करें सभी पोस्‍ट दिखाएं

29 अक्तूबर 2018

ट्विटर क्या है? इसके मुख्य फीचर्स क्या है?

About Twitter and its main features.
Twitter

नमस्कार मित्रों! स्वागत है आपका यहाँ। आज जानेंगे ट्विटर और इसके मुख्य फीचर्स के बारे में, वैसे तो twitter को इंटरनेट के sms के रूप में भी जाना जाता है। और लगभग सभी यूजर इसके बारे में जानता है यह लेख नए उपयोगकर्ता के लिए मार्गदर्शन हेतु लिखा गया है। 

ट्विटर एक ऑनलाइन सोशल नेटवर्किंग सर्विस है जो उपयोगकर्ता (User) को 140 करैक्टर के छोटे संदेश भेजने और पढने की सुविधा देता है जिन्हें "tweets" कहा जाता है। पंजीकृत उपयोगकर्ता संदेश को पढ़ एवं प्रेषित कर सकते हैं परन्तु अन्य उपयोगकर्ता सिर्फ संदेश पढ़ सकते हैं। इसे कंप्यूटर एवं मोबाइल, दोनों से संचालित किया जा सकता है। वर्तमान में ट्विटर के दुनियाभर में 25 कार्यालय है और इसकी स्थापना सेन फ्रांसिस्को में हुई थी। ट्विटर मार्च 2006 में बनाया गया था और इसके निर्माता हैं: जैक डोरसे, एवन विलियम्स, ब्रिज टोन, और नूह ग्लास, ट्विटर जुलाई 2006 में लांच किया गया था।

ट्विटर के मुख्य फीचर इस प्रकार है : 

* ट्वीट : यह एक संदेश का टुकड़ा है जो की अधिकतम 140 और कुछ देशों में ये 280 करैक्टर का हो सकता है। शब्दों के बीच खाली जगह और पंक्चुएशन भी 140 करैक्टर में शामिल किये जाते हैं, यानी आप मेसेज लिखते समय जितनी बार स्पेस बटन का इस्तेमाल करेंगे वो भी गिना जायेगा।  यह एक प्रकार की ब्लॉग एंट्री या समझ लीजिए एक छोटे ब्लॉग की तरह है।

* टाइम लाइंस : तारीख के हिसाब से संदेशों का संकलन है टाइम लाइन। पब्लिक टाइम लाइन में हर संदेश का संकलन होता है। जब आप ट्वीट करते हैं तो आप खुद की टाइम लाइन बना लेते हैं जो की आपकी प्रोफाइल देखने वाले हर उपभोक्ता को क्रमबद्ध दिखेगी। टॉप मेन्यु में प्रोफाइल लिंक पर क्लिक करके आप खुद की टाइम लाइन देख सकते हैं। हर उपभोक्ता की एक विशेष टाइम लाइन भी होती है जिसमे हर उस व्यक्ति के ट्वीट होते हैं जिसे उपयोगकर्ता फ़ॉलो कर रहा होता है। यह आपके खुद के न्यूज टिकर की तरह होता है। आप बहुत से लोगों और समूह को फ़ॉलो कर सकते हैं। सिवाय उन संदेशों के जो वह खुद किसी को भेज रहे हैं, आप संदेशों को देख सकते हैं।

* ट्विटर प्रोफाइल : टॉप मेन्यु के सेटिंग लिंक पर क्लिक करके आप अपनी प्रोफाइल एडिट कर सकते हैं। एक बात का ध्यान रखना जरूरी है की आपके अकाउंट सेक्शन की हर चीज पब्लिक को दिखती है। अगर आप अपना वास्तविक नाम नहीं दिखाना चाहते तो अपना नाम बदल सकते हैं। हेड शॉट को आम तौर पर अपनी प्रोफाइल पिक्चर बनाया जाता है।

* फोलोविंग और फोलोवर्स : फोलोविंग ट्वीटर में friending और subscribing के लिए प्रयोग किया जाता है। जब किसी की प्रोफाइल पेज पर विजिट करते हैं तो उसके चित्र के नीचे एक छोटा सा फ़ॉलो बटन होता है। इस बटन पर क्लिक करने से आपके होम टाइम लाइन पर उस व्यक्ति के ट्वीट दिखाई देते हैं। ट्विटर पर फोलोविंग एक तरफा होता है, जब तक कोई अपने अपडेट को गोपनीय नहीं करता, उसे आपकी फोलोविंग रिक्वेस्ट को अप्रूव करने की जरूरत नहीं होती है। अगर फीचर बंद ना किया हो तो उन्हें इस बात का एक ई-मेल मिलेगा की आप उन्हें फ़ॉलो कर रहे हैं। वो भी आपके ट्वीट चेक कर सकते हैं और आप उनके मतलब के संदेश भेजते रहते हैं तो वे भी आपको फ़ॉलो कर सकते हैं।

* क्न्वर्सेशन
+ सीधे संदेश प्राइवेट होते हैं। सिर्फ प्रेषक और पाने वाला ही उन्हें देख सकता है। आप इस प्रकार के संदेश सिर्फ उन लोगों तक भेज सकते हैं जो आपको फ़ॉलो करते हैं। इस प्रकार के संदेश आमतौर पर अच्छे नहीं माने जाते और लोग उन्हें नहीं पढ़ते।
+ जिन ट्वीट में आपको मेंशन किया गया है, यह जानने के लिए ट्विटर के राईट साइड पर @yourname (आपका यूजर नेम) पर क्लिक करें।
+ अपने फोलोवर्स को अपना ट्वीट दिखाने और किसी को विशेष रूप से भेजने के लिए शुरुआत की जगह कहीं भी @username लिख दें।

* री-ट्वीट (RT) : जब कोई दूसरा आपके ट्वीट को उसके खुद के फोलोवर्स को दिखाना चाहता हो, तो इसे करने का सामान्य तरीका है:
RT@OriginalAuthor Content of original tweet [Retweeter's comment]

* हेशटैग : हेशटैग से आप अपने ट्वीट में कुंजी शब्द या श्रेणियां जोड़ सकते हैं। हेशटैग लोगों को एक विषय पर ट्वीट का औसत करने की अनुमति देता है। इसमें हेशटैग का चिन्ह की वर्ड बिना रिक्तस्थान के होता है जैसे #फेसबुक । हेशटैग आजकल स्वचलित ट्विटर खोज के लिंक में बदल जाते हैं। जैसे #फेसबुक टैग पर क्लिक करेंगे तो #फेसबुक हेशटैग की सारी सामग्री आपके सामने आ जाएगी जिनमे ये टैग इस्तेमाल हुआ है। कांफ्रेसं और इन्वेट्स के लिए हेशटैग का काफी प्रयोग होता है। हेशटैग को ढूंढ कर आप कई प्रकार के लाइव इवेंट्स को फ़ॉलो कर सकते हो।  अपने शहर या राज्य में होने वाली घटनाओं की जानकारी रखी जा सकती है, किसी भी विषय को खोजा जा सकता है।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक करें, धन्यवाद।

26 फ़रवरी 2014

ट्विटर या फेसबुक पर कीजिये फ्यूचर मैसेज शेड्यूल।

Schedule-facebook-twitter
Schedule-facebook-twitter


नमस्कार मित्रों, आजकल फेसबुक या ट्विटर को रेगुलर अपडेट करना यूथ वर्ग की दिनचर्या का अहम हिस्सा बन गया है। ऐसे में यदि इंटरनेट से दूर रहना पड़े, तो उन्हें बड़ी मुश्किल होती है। ऐसी समस्या का समाधान कुछ वेबसाइट के पास है। इन वेबसाइट के जरिये अपने फेसबुक या ट्विटर अपडेट्स को आसानी से शेड्यूल किया जा सकता है। नीचे ऐसी ही कुछ वेबसाइट की जानकारी दी जा रही है, जिनके जरिये आप फेसबुक या ट्विटर अपडेट्स को शेड्यूल किया जा सकता है।

ऐसे करें अपडेट्स को शेड्यूल।

इसके लिए सबसे पहले आपको इनमे से किसी एक वेबसाइट पर जाना होगा-:

laterbro.com
tweetdeck.com
socialtomorrow.com


इसके बाद आपको इन वेबसाइट पर अपने फेसबुक या ट्विटर अकाउंट पर लोगिन करना होगा। एक बार अगर आप इन वेबसाइट को अकाउंट एक्सेस करने की परमिशन दे देंगे, तो उसके बाद ये आपकी अपडेट्स को मनचाही तारीख और समय पर भेजने को तेयार होंगी। अपडेट को टाइप करने के बाद आपको केवल यह जानकारी देनी होती है कि इसे कब भेजना है। बाकी काम ये साईट खुद कर देगी। आपको ये पोस्ट कैसी लगी कमेन्ट के माध्यम से जरुर बताएं।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक करें.. धन्यवाद।

03 मार्च 2014

क्या आप ताजा जानकारी के लिए गूगल सर्च करते हैं?

क्या आप ताजा जानकारी के लिए गूगल सर्च करते हैं।




नमस्कार मित्रों, जैसा की आप सब जानते हैं कि ज्यादातर सर्च इंजन पर कुछ दिनों या कुछ घंटों पहले तक कि ही जानकारी होती है, ओर आप ऐसी जानकारी के लिए गूगल कि मदद लेते हैं लेकिन गूगल ही सब कुछ नहीं है ,  कुछ वेबसाइटस् हैं, जो रियल टाइम सर्च में मदद करती है, जिनके बारे में मैं बताने जा रहा हूँ।

गर आप दुनियाभर की खबरों,वीडियो ओर इमेज को सर्च करना चाहते हैं, तो टॉप्सी आपकी मदद कर सकता है। इसमें सर्च रिजल्ट्स को पिछले एक घंटे या एक दिन जैसी केटेगरी में बांटा गया है। यह 10 भाषाओँ में उपलब्ध है। खास बात ये है कि ये गूगल प्लस के ताजा अपडेट्स को भी शामिल करता है। इसके अलावा ट्विटर पर कि गयी ट्वीट्स को भी आप इस पर आसानी से सर्च कर सकते हैं।

न.2 rediff.com
गर आप देश दुनिया कि इस वक्त घटित हो रही घटनाओं को सर्च करना चाहते हैं, तो आप रेडिफ रियल टाइम न्यूज सर्च इंजिन का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह आपको सर्च के लिए कीवर्ड्स का भी सुझाव देता है। इसके अलावा इसमें जैसे ही आप टाइप करने जाते हैं, वैसे ही न्यूज की खोज शुरू हो जाती है।

बिंग ने ट्विटर के साथ समझोता किया है। इसके कारण इसकी सोशल सर्च काफी मजबूत है। अगर आप कोई कीवर्ड टाइप करते हैं, तो तुरंत ताजा ट्विटर अपडेट्स नजर आने लगती है। इसमें आप खास मुददों को अलग से हाईलाईट कर सकते हैं। आप चांहे तो सर्च को घंटों के हिसाब से भी बाँट सकते हैं। आप बिंग ट्वीट्स मैप्स कि मदद से दुनियां के अलग-अलग इलाकों से हुए ट्वीट्स के विषय में जान सकते हैं।

किसी खबर के घटित होते ही आप तुरंत जानना चाहते हैं, तो आप ट्वाजअप पर जा सकते हैं। यह रियल टाइम न्यूज कि टैगलाइन के साथ सर्च कि सुविधा देता है। अगर आप इसमें कोई शब्द टाइप करते हैं, तो  उससे जुडी ट्वीट्स, न्यूज ओर लिंक आपके सामने कुछ ही पलों में आ जाते हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी कमेन्ट के माध्यम से जरुर बताएं।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज  लाइक करें.. धन्यवाद।

08 अक्तूबर 2018

ब्लॉग क्या है? इसके कितने प्रकार है?

ब्लॉग क्या है?
ब्लॉग क्या है?

नमस्कार मित्रों, आज बात करते हैं ब्लॉग के बारे में, इस आलेख में जानेंगे की ब्लॉग क्या है? ब्लॉग किसे कहते हैं? और ब्लॉग के कितने प्रकार होते हैं?

एक ब्लॉग, जानकारी या चर्चा हेतु तेयार की गयी वेबसाइट है जो की डिस्क्रिट प्रविष्ठियां (अलग-अलग), जिन्हें पोस्ट भी कहा जाता है, से मिलकर बनी होती है तथा जो आमतौर पर रिवर्स क्रानिकल यानि जो पोस्ट हाल ही में की गई है वो पोस्ट सबसे ऊपर के रूप में दिखाई जाती है।

सन 2009 तक ब्लॉगस आमतौर पर एक ही व्यक्ति का काम होता था, कभी कभार इसे एक समूह वाले, एक ही विषय पर वार्तालाप करने के लिए उपयोग में लेते थे, अभी हाल ही में बहुत से बहु लेखक ब्लॉग (मल्टी ऑथर ब्लॉग) विकसित हुए हैं। जिनमे बहुत से लेखकों द्वारा पोस्ट लिखी जाती है तथा पेशेवरों द्वारा संपादित की जाती है।

समाचार पत्रों के पेशेवर, अन्य मिडिया के आउटलेट्स, विश्वविद्यालयों के विचारक समूह, वकालत समूह इत्यादि की उपस्थिति तथा योगदान की वजह से ब्लॉग ट्रैफिक लगातार बढ़ रहा है। ट्विटर एवं अन्य माईक्रोब्लोगिंग सिस्टम ब्लॉगस को संगठित कर नयी धारणाओं में एकीकृत करने में मदद करते हैं।

अधिकांश ब्लॉग इंटरेक्टिव होते हैं जो आगुन्तकों को अपने विचार संदेश ब्लॉग से जीयुआई(GUI) के माध्यम से छोड़ने की अनुमति देते हैं। यही अंतर क्रियाशीलता (इंटरेक्टिव) ब्लॉग को दुसरी स्टेटिक (स्थिर) वेबसाइटों से अलग पहचान दिलाता है।

कई ब्लॉग एक विशेष विषय पर कमेंट्री पेश करते हैं। कुछ ब्लॉग ऑनलाइन डायरी की तरह कार्य करते हैं, तो कुछ ब्लॉग किसी विशेष व्यक्ति या संगठन के ब्रांड व विज्ञापन की तरह कार्य करते हैं। एक टिपिकल ब्लॉग में अक्षर, चित्र एवं दुसरे ब्लॉग से जुड़ने की व्यवस्था एवं अन्य विषय पर आधारित मिडिया को जोड़ने का कार्य करते हैं।

ब्लॉग के प्रकार :

ब्लॉग कई प्रकार के होते हैं, उनके प्रकार केवल उनकी सामग्री (कंटेंट) के आधार पर नहीं बल्कि उन्हें किस प्रकार प्रस्तुत किया जाना है या लिखा जाना है, पर भी निर्भर करते हैं।

ब्लॉगस के विभिन्न प्रकार को नीचे वर्गीकृत किया गया हैं:

1. व्यक्तिगत ब्लॉग (Personal Blog) : इस प्रकार के ब्लॉग में एक व्यक्ति की व्यक्तिगत चालू डायरी या कमेंट्री होती है, अधिकतर लोग ऑनलाइन डायरी लिखने के शौक़ीन होते हैं वो इसी प्रकार में आता है।

2. सहयोगात्मक ब्लॉग अथवा ग्रुप ब्लॉग (Collaborative Blog Or Group Blog) : यह वह ब्लॉग है जिसमें पोस्ट एक या एक से अधिक लेखकों द्वरा प्रकाशित होती है। ज्यादातर हाई-प्रोफाइल सहयोगात्मक ब्लॉग एक थीम के चारों और आधारित होती हैं जैसे की राजनीती, बॉलीवुड  या नयी तकनीक इत्यादि।

3. माइक्रोब्लोगिंग (Micro Blogging) : माइक्रोब्लोगिंग डिजिटल जानकारियों को छोटे-छोटे हिस्सों में प्रदर्शित करने का तरीका है जो पाठ, चित्र, लिंक एवं अन्य मिडिया के रूप में जो इंटरनेट पर उपलब्ध है। माइक्रो ब्लोगिंग एक पोर्टेबल संचार व्यवस्था है जिसे कई लोगों ने जैविक और सहज महसूस कर सार्वजनिक कल्पना का दर्जा हासिल करा लिया है जैसे ट्विटर और फेसबुक

4. कॉर्पोरेट ब्लॉग (Corporate Blog) : एक ब्लॉग प्राइवेट या बिजनस कार्य के लिए भी बनाया जा सकता है। बिजनस में आपसी संवाद बढ़ाने या फिर मार्केटिंग, ब्रांडिंग, और पब्लिक रिलेशन को बेहतर करने के काम आता है।

5. अग्रीग्रेटेड ब्लॉग (Aggregated Blog) : इस तरह के ब्लॉग में ऑर्गेनाइजेशन या व्यक्तिगत तौर पर कुछ लोग एक विषय पर जानकारी एकत्रित करके पाठकों को संयुक्त जानकारी उपलब्ध करवा सकते हैं। इससे पाठक अपने मनपसन्द विषय को पढने में समय लगा सकता है, न की व्यर्थ की जानकारी को जुटाने में।  हिंदी अग्रीग्रेटेड ब्लॉग उदाहरण : हमारीवाणी, ब्लोग्वार्ता, ब्लोग्सेतुचर्चामंच आदि।

6. Genre ब्लॉग : इस श्रेणी में वह ब्लॉग आते हैं जो किसी टॉपिक पर केन्द्रित होते हैं जैसे - राजनेतिक, स्वास्थ्य, फैशन, किताबें, तकनीक, आदि। आजकल कैसे करें? आदि के ब्लॉगस काफी प्रचलित हो रहे हैं। जिसमे दो आम प्रकार के ब्लॉग है - आर्ट ब्लॉग एवं म्यूजिक ब्लॉग।

7. मिडिया टाइप पर आधारित ब्लॉग : इस प्रकार के ब्लॉग में जिस ब्लॉग में विडिओ होते है उस ब्लॉग को व्लॉग (Vlog) कहते हैं, लिंक्स वाले ब्लॉग को लिंक्लोग (Linklog) कहते है। जिस ब्लॉग पर स्केच होते हैं उसे स्केचब्लॉग और जिसमे चित्र होते हैं उसे फोटोब्लॉग कहते हैं।

8. डिवाइस टाइप पर आधारित ब्लॉग : इस प्रकार के ब्लॉग का प्रकार लिखे गये उपकरणों के आधार पर किया जाता है। जैसे PDA अथवा मोबाइल से लिखे गये ब्लॉग को मोब्लॉग कहते हैं।

तो मित्रों ये थे ब्लॉग के प्रकार, अगर आप भी अपना ब्लॉग बनाना चाहते है तो सबसे पहले सही श्रेणी इस्तेमाल करें ताकि आपके ब्लॉग के टैरिफ पर प्रभाव ना पड़ें या यूँ कहें की गूगल आपके ब्लॉग को अनदेखा ना करें।

फ्री में आप ब्लॉग बना सकते है इंटरनेट पर तीन सबसे चर्चित फ्री सेवा है वर्डप्रेस, ब्लागस्पाट (जो की गूगल की सेवा है) और टम्बलर, आप अपने पसंद के हिसाब से इन पर अपना ब्लॉग बना सकते हैं।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने पोस्ट शेयर करें और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक करें, धन्यवाद।

27 मई 2013

फेसबुक को चुनोती देती वर्ल्डफ्लोट।


 
worldfloat
worldfloat

मित्रों आप केवल नेटवर्किंग वेबसाइट के तौर पर फेसबुक का इस्तेमाल जरुर करते होंगे। अब फेसबुक और ट्विटर को एक नई सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट टक्कर दे रही है, वेबसाइट का नाम है वर्डफ्लोट
 

इस वेबसाइट पर आपको फेसबुक और ट्विटर से अलग कई नयी चीजें नजर आएंगी। खास बात है की ये वेबसाइट भारत में हि तेयार हुयी है। अभी इसके यूजर्स की संख्या करीब 60 लाख के करीब है। इस वेबसाइट पर आपको गेम्स, हेल्थ और ट्रेवल जैसे कई ऑप्सन देखने को मिलेंगे, इस वेबसाइट पर आप फेसबुक से लोगिन भी कर सकते हैं...

जहाँ एक तरफ दुनिया में फेसबुक के प्रति लोगों की दीवानगी कम हो रही है और दुसरी तरफ वर्ल्डफ्लोट तरक्की कर रही है।
अब इतनी खूबियां बताई है है तो जाहिर है आप भी यहाँ जाना चाहोगे, तो वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें।



अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज भी लाइक करें.. धन्यवाद..

27 फ़रवरी 2014

गूगल ही सब कुछ नहीं

मित्रों सबसे पहले तो सभी को महाशिवरात्री पर्व कि हार्दिक शुभकामनाएं। अब बढते है आज के लेख कि तरफ,  क्या आप इंटरनेट पर कुछ भी सर्च करने के लिए सिर्फ गूगल  कि मदद लेते हैं? हो सकता है कि आप याहू या बिंग पर भी सर्च करते हों। पर इनके अलावा भी कई ऐसे सर्च इंजन है, जो खास तरह कि सर्च करते हैं और इंटरनेट पर आपके काम को आसान बना सकते हैं। 

ऐसे ही कुछ सर्च इंजन में आपको बता रहा हूँ जो निम्न है -:

सोशल सर्च के लिए
scour.com

अब आप स्कोर डॉट कॉम कि सहायता से सर्च के साथ सोशल नेटवर्किंग का कॉम्बीनेशन देख सकते हैं। इससे ट्विटर और फेसबुक के पेज कि सर्च आसान हो जाती है। स्कोर डॉट कॉम पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें।

लोगों(व्यक्तियों) को तलाशने के लिए
pipl.com

अगर आप अंतर्जाल पर लोगों को ढूँढना चाहते हैं तो पीपल डॉट कॉम कि सहायता ले सकते हैं। वेबसाइट पर जाकर अगर आप किसी व्यक्ति का नाम और उसकी लोकेशन टाइप करेंगे तो उससे सबंधित जानकारियाँ विशिष्ट तरीके से नजर आएगी। यह जानकारियों को सर्च करने के लिए डीप वेब का इस्तेमाल करता है। पीपल डॉट कॉम पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें।

सवाल का जवाब पाने के लिए
answers.com

 अगर आपको अपने हर सवाल का जवाब तुरंत मिल जाए तो कैसा रहेगा? जी हाँ अब आप आंसर डॉट कॉम कि सहायता से हर सवाल का जवाब आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। यह दुनिया कि प्रमुख पांच भाषाओँ में काम करने वाला सर्च इंजन है। इसकी शुरुआत इजराइल में हुई थी। इसकी खास बात है कि यह वेबसाइट आपके पास अलग-अलग सोर्स से जानकारियाँ जुटाता है और उन्हें एक साथ प्रजेंट करता है। इसमें आप कई केटेगरी में सर्च कर सकते हैं। इस वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें।

गणित कि समस्या के हल के लिए
wolframalpha.com

शोध कि दुनिया में रहने वालों को नित नई तरह कि कैलकुलेशन करनी पड़ती है। अब आप यह काम आसानी से कर सकते हैं। इसके लिए आप वोल्फ्राम अल्फ़ा वेबसाइट कि मदद ले सकते हैं। अगर आप सर्च इंजन में मैथ टाइप करेंगे तो वेबसाइट कि लिस्ट कि बजाय विशिष्ट जानकारियाँ नजर आएगी। इस साईट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें।

हर सर्च इंजिन कि सर्च करने के लिए
dogpile.com

डॉगपाईल सर्च इंजिन कि खासियत है कि यह भी बड़े सर्च इंजिन जैसे गूगल, याहू और बिंग के नतीजों को एक साथ पेश करता है।इसमें ऑडियो और वीडियो सर्च भी आसानी से मिल सकता है। इस वेबसाइट पर जाने के लिए यहाँ क्लीक करें। आज का लेख आपको कैसा लगा कमेन्ट के माध्यम से जरुर बताएं, अच्छा लगे तो शेयर जरुर कर दें।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज लाइक करें.. धन्यवाद।

21 फ़रवरी 2014

क्लाउड कम्यूटिंग


 क्लाउड कम्यूटिंग
 क्लाउड कम्यूटिंग
मित्रों आजकल कंप्यूटर के क्षेत्र में 'क्लाउड कम्यूटिंग' का प्रयोग अत्यधिक सुनने में आता है। 'क्लाउड कम्प्यूटिंग' वास्तव में इन्टरनेट आधारित और कम्प्युटर एप्लीकेशन का प्रयोग है। 'गूगल एप्स' इसका एक उदाहरण है जो कई प्रकार की सेवाएं अर्थात बिजनेस एप्लीकेशन ऑनलाइन उपलब्ध कराता है। इन्टरनेट का प्रयोग कर इस तक पहुंचा जा सकता है। इन्टरनेट पर सर्वरों में जानकारियां (अनुप्रयोग,वैबी पैजिस, प्रोग्राम इत्यादि सभी) सदा सर्वर के लिए भंडारित रहती है और ये उपयोक्ता के डेस्कटॉप, नोटबुक, गेमिंग कंसोल इत्यादि पर आवश्यकतानुसार इंटरनेट द्वारा अस्थायी रूप से प्रयुक्त की जाती है। सरल शब्दों में इन्टरनेट के माध्यम से कम्प्युटर से सबंधित सभी काम ऑनलाइन करने को ही क्लाउड कम्प्यूटिंग कहा जाता है अर्थात वैब सेवा प्रदान करने वालों के सर्वरों पर आप अपने सभी कार्य निपटा सकते हैं। आप वर्ड फ़ाइल, फोटो से लेकर वीडियो आदि अपना सारा डाटा इन सर्वरों में ही सेव कर सकते है। अब डाटा स्टोर करने के लिए हार्ड डिस्क या मैमोरी कार्ड की चिंता नहीं होगी।

इन्टरनेट वास्तव में विश्वभर के एक साथ जुड़े कम्प्यूटरों तथा सर्वरों का एक विशाल तन्त्र है जिनमें सम्पर्क स्थापित करने के लिए एक जैसी तकनीक का प्रयोग किया जाता है। कम्प्यूटरों तथा सर्वरों के इस जाल में प्रयोग होने वाली सारी जानकारी तथा इसकी विश्वभर में पहुँच को ही 'क्लाउड कम्प्यूटिंग' कहा जाने लगा।

वैब सर्च इंजिन हो या अन्य साईट, सभी क्लाउड कम्प्यूटिंग के माध्यम से ही यूजर तक पहुँचती है। क्लाउड कम्प्यूटिंग के माध्यम से ही विश्वभर की खबर कुछ ही समय में अद्यतन हो जाती है। जब आप इंटनेट पर कुछ भी सर्च करते है तो ये मांग भी क्लाउड कम्प्यूटिंग के माध्यम से हि पूरी होती है। सवाल सीधे सर्वरों पर पहुँचता है। ढेरों सर्वर आपस में जुड़े होने के कारण सूचनाओं का आदान-प्रदान पलों में हि हो जाता है। सरंक्षित डाटा में से उतर तलाश कर सबसे पहले सर्वर वेबसाईट का प्रारूप तेयार करते है और इन्हें एक पेज के रूप में फोर्मेट करते हैं तथा इस पेज को आपके पास भेज देते है। यह प्रक्रिया एक सेकेण्ड से भी कम समय में पूरी हो जाती है।

सोसल नेटवर्किंग साइट्स ट्विटर और फेसबुक इत्यादि भी क्लाउड कम्प्यूटिंग के आधार पर ही सेवा प्रदान करती है। फ़ाइल शेयरिंग से जुड़े कार्य भी क्लाउड कम्प्यूटिंग के अंतर्गत आते है।    
   
आज बस इतना ही अगली बार कुछ खास लेकर पेश होऊंगा धन्यवाद।   

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और फेसबुक पर ताजा अपडेट पाने के लिए ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज  लाइक करें.. धन्यवाद।

21 जून 2013

अब पोस्ट को बनाये और दिलचस्प

textgram

नमस्कार मित्रों, कई दिनों बाद हाजिर हुआ हूँ आपके लिए एंड्रॉयड के लिए एक मस्त सी एप लेकर, अगर आप स्मार्टफोन पर फेसबुक या ट्विटर इस्तेमाल करते है तो आप अपनी पोस्ट को दिलचस्प बनाने की कोशिश भी करते होंगे। इस काम में टेक्स्टग्राम (textgram)  एप्लीकेशन आपकी मदद कर सकती है। इसमें आपको कम्पोज बॉक्स में टेक्स्ट टाईप या पेस्ट करना होगा और उसके बाद आप पोस्ट के अनुरूप इमेज चुन सकते हैं। आप चाहें तो टेक्स्ट का फॉण्ट और रंग भी बदल सकते हैं। आप टेक्स्ट को उल्टा कर सकते है, उसकी छांया बना सकते हैं। इससे आपकी पोस्ट और भी शानदार नजर आएगी।

इसके बाद आप अपनी मनचाही सोशल नेटवर्किंग साईट पर इसे शेयर कर सकते हैं। इस एप में एक साथ कई सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर शेयरिंग नहीं की जा सकती पर पोस्ट को लाजवाब और दिलचस्प बनाने के लिए इसे जरुर आजमा कर देखें!   

इसे डाउनलोड करने के लिए अपने मोब. से प्ले स्टोर में जाएँ और सर्च करें textgram या फिर इस लिंक से डाउनलोड करें।

अगर आपको ये ब्लॉग पसंद आ रहा है तो अभी इसके सदस्य बने और ब्लॉग का फेसबुक फेन पेज भी लाइक करें.. धन्यवाद..

13 अप्रैल 2012

अंतर्जाल की रोजाना की एक्टिविटीज नोट कीजिये

Genieo



Genieo एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो आपके रोजाना की एक्टिविटीज को देखता है आपके पसंद का ध्यान रखता है, फिर धीरे लगभग एक दो दिन में यह आपके डेली नेट एक्टिविटीज को नोट करके उसके हिसाब से आपको नई जानकारी देता है।

जिससे मुझे रोजाना बहुत सारे सॉफ्टवेयर के  और नए-नए आर्टिकल मिलते है ढेरो जानकारियाँ, इससे इसे कोई मतलब नहीं की आप क्या पसंद करते है बस यह तो आपको आपकी डेली एक्टिविटीज के हिसाब से उसी तरह की और जानकारियाँ देता है जैसी आप रोज सर्च करते हो और पढते हो, यदि आपका फेसबुक तथा ट्विटर अकाउंट भी है तो उसे भी इससे जोड़ दे अधिक जानने के लिए इसे उपयोग करोगे तभी पता चलेगा।

डाउनलोड यहाँ से कीजिये ।
loading...